दक्षिण एशिया

टाटा कंपनियों की दक्षिण एशिया में उभरते वैश्विक विस्तार के कारण क्षेत्र में समूह के ऑपरेशंस का महत्वपूर्ण आधार बन गया है। इसने बांग्लादेश, भूटान, मालद्वीप, पाकिस्तान तथा श्रीलंका में अपने परिचालन स्थापित किए हैं।

इस क्षेत्र में निम्नलिखित कंपनियां हैं:

  • दी ताज ग्रुप के पास मालद्वीप (ताज का ताज एक्ज़ॉटिका रिसॉट & स्पा तथा विवांता – कोरल रीफ), भूटान (ताज ताशी) तथा श्रीलंका (ताज – वेंटोटा का विवांता, ताज समुद्र तथा ताज गेटवे होटल एयरपोर्ट गार्डेन कोलंबो) में संपत्तियां हैं।
  • टाटा कम्युनिकेशन्स ने श्रीलंका (टाटा कम्युनिकेशन्स लंका) तथा नेपाल (यूनाइटेड टेलीकॉम) में रणनीतिक निवेश किए हैं।
  • टाटा ग्लोबल बेवरेजेस अपने संयुक्त उपक्रम टेटली एसीआई (बांग्लादेश) तथा टेटली क्लोवर (पाकिस्तान) और इस्टेट मैनेजमेंट सर्विसेस, श्री लंका के माध्यम से ऑपरेट करती है।
  • टाटा पावर ने 126 मेगावॉट दगाछू हाइड्रो प्रोजेक्ट भूटान में लगाया है। इससे उत्पादित विद्युत भारत में बेची जाती है।
  • टाटा मोटर्स अपनी यात्री व वाणिज्यिक वाहनों को श्रीलंका, बांग्लादेश, भूटान, नेपाल तथा पाकिस्तान में बेचती है।
  • इस क्षेत्र में उपस्थित अन्य कंपनियों में टाटा स्टील, वोल्टास, रैलीस तथा टाइटन कंपनी शामिल हैं।