दिसम्बर 13, 2017

टाटा टेक्नोलॉजीज भारी औद्योगिक मशीनरी के क्षेत्र में पूर्ण मशीन विकास क्षमता प्रदर्शित करनेवाली पहली ईएसओ कंपनी बन गई है

टाटा टेक्नोलॉजीज ने टाटा हिताची शिनराई के नाम से नए बैकहो लोडर बनाने के लिए हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी, जापान और टाटा हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी के साथ सफल भागीदारी की है

बेंगलुरु: टाटा टेक्नोलॉजीज, अभियंत्रण समाधानों के अग्रणी वैश्विक प्रदाता और उद्यम आईटी के अग्रणी विनिर्माता, ने आज घोषणा की है कि इन्होंने नए बैकहो लोडर, टाटा हिताची शिनराई के निर्माण के लिए, हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी, जापान और टाटा हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी के साथ सफलतापूर्वक भागीदारी की है। यह पहली बार हो रहा है कि किसी अभियंत्रण सेवा आउटसोर्सिंग (ESO) कंपनी ने अवधारणा से लेकर उत्पादन तक ग्राहक के सहयोग से भारी औद्योगिक मशीनरी के क्षेत्र में पूर्ण मशीन निर्माण का कार्य-निष्पादन किया है।

टाटा हिताची शिनराई को उन्नत सुघड़ता, उत्पादकता में वृद्धि, ईंधन खपत तथा परिचालन लागत में कमी के साथ भारत में ग्राहक कार्यों में स्थायित्व जैसी विशेषताओं के साथ डिजाइन किया गया है। इसका अनावरण एक्सकॉन 2017, बेंगलुरु में टाटा हिताची के बूथ पर किया गया, जहां टाटा हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी के प्रबंध निदेशक, संदीप सिंह, तथा टाटा टेक्नोलॉजीज के सीईओ तथा प्रबंध निदेशक, वारेन हैरिस उपस्थित थे।

इस अनावरण के अवसर पर, श्री सिंह ने कहा, “हम एक पूर्ण प्रणाली समेकन समाधान की उम्मीद करते हैं जिससे हमें प्रतियोगी बाजार में अधिक बड़ा हिस्सा प्राप्त करने में सहायता मिल सकेगी। हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी, जापान तथा टाटा टेक्नोलॉजीज के बीच गठबंधन हुआ, और टाटा हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी ने यह पेशकश की है। बाजार के बारे में हमारी संयुक्त विस्तृत जानकारी के साथ इस क्षेत्र में टाटा टेक्नोलॉजीज की गहन विशेषज्ञता को मिलाकर, निर्मित यह नया बैकहो लोडर एक उच्च-मूल्यवत्ता की मशीन है जो भरोसेमंद, क्षमतायुक्त, सरल, उन्नत उत्पादकतायुक्त तथा कम लागत में चलने वाली होगी। हम इस संयुक्त सहभागिता के द्वारा इस तरह के और भी इंजिनयुक्त साधन बनाने की उम्मीद करते हैं।”

इस अवसर पर बोलते हुए, श्री हैरिस ने कहा, “हमारी वैश्विक उपस्थिति, विस्तृत उत्पाद निर्माण विशेषज्ञताएं, तथा साबित अभियंत्रण क्षमताएं हमें भारी मशीनरी के क्षेत्र में नवाचारी, कार्यात्मक रूप से संगत तथा विशेषतायुक्त समाधान उपलब्ध कराने में सक्षम बनाती हैं। नवीनतम तथा उपयुक्त तकनीक को प्रयुक्त करने की हमारी क्षमता से हमारे ग्राहकों को बाजार में आसानी से एक स्पर्धात्मक बढ़त हासिल करने की क्षमता प्राप्त हो जाती है। विशेषज्ञ दक्षताओं तथा मापनीय संसाधनों की जरूरतों को टाटा टेक्नोलॉजीज के वैश्विक रूप से वितरित निष्पादित मॉडल का उपयोग करते हुए आसानी से व्यवस्थित कर लिया गया। हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी जापान के साथ हमारी सहभागिता तथा टाटा हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी हमारी सफलता की वसीयत है जिसे इस क्षेत्र में हमारी गहन जानकारी तथा डिजिटलीकृत न्यू प्रोडक्ट इंट्रोडक्शन (NPI) प्रविधियों के संयोजन से प्राप्त किया जाना है।”

टाटा हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी की डिजाइन टीम ने नए टाटा हिताची शिनराई को हिताची कंस्ट्रक्शन मशीनरी तथा टाटा टेक्नोलॉजीज दोनों के अभियंताओं के महत्वपूर्ण सहयोग से डिजाइन किया है। औद्योगिक भारी मशीनरी के क्षेत्र में टाटा टेक्नोलॉजीज के अनुभव से नए मशीन को एक केबिन दिया गया है जिसे आर्गोनॉमिकल तरीके से डिजाइन किया गया और बनाया गया है, जिसमें रोल-ओवर (ROPS) तथा फालिंग ऑब्जेक्ट्स (FOPS) रक्षात्मक ढांचे सम्मिलित किए गए हैं, और साथ ही अनोखी बाजार जरूरतें जैसे ‘डक वॉक’ क्षमता, तथा आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक्स जैसे जीपीएस तथा टेलीमेटिक्स को भी शामिल किया गया है। अतिरिक्त रूप से, टाटा टेक्नोलॉजीज ने वैल्यू एनलाइसिस/ वैल्यू इंजीनियरिंग (VA/VE) तथा टीयरडाउन& बेंचमार्किंग (TDBM) में अपनी विशेषज्ञताओं का इस्तेमाल किया है ताकि प्रतियोगियों की तुलना में उत्पादन लागत को कम किया जा सके।

अभियंत्रण तथा डिजाइन के क्षेत्र में टाटा टेक्नोलॉजीज की क्षमताओं, औजार तथा प्रविधियों के इस्तेमाल की क्षमताओं, तथा ग्राहकीय सहयोग से एक समय तथा लागत-प्रभावी समाधान का निर्माण हुआ है, जिसमें इस उत्पाद के संपूर्ण निर्माण चक्र में दक्षता पर बल दिया गया है।

टाटा हिताची शिनराई, शोध के क्षेत्र में हिताची की विशेषज्ञताओं, टाटा हिताची के डिजाइन कौशल, और डिजाइन तथा इंजीनियरिंग के क्षेत्र में टाटा टेक्नोलॉजीज की क्षमताओं के एक साथ संयुक्त होने का एक प्रतीक है। रोमानिया में टाटा टेक्नोलॉजीज की डिजाइन तथा इंजीनियरिंग क्षमताओं को भारत से इंजीनियरिंग, कंपयूटर एडेड इंजीनियरिंग (CAE), कंप्यूटेशन फ्लुइड डायनामिक्स (CFD) क्षमताओं का समर्थन प्राप्त है, जिसके साथ इसे यूके तथा यूएसए से परियोजना प्रबंधन तथा स्टाइलिंग सहयोग भी मिलता है।