दिसम्बर 29, 2017

जैवविविधता के सम्मान और उसकी रक्षा के संदेश के साथ टाटा स्टील नोआमुंडी द्वारा ‘जैब कला विविधता’ का समापन

नोआमुंडी: टाटा स्टील नोआमुंडी में कला के जरिए जैवविविधता के चार-दिवसीय उत्सव ‘जैब कला विविधता’ का समापन जैवविविधता के सम्मान और उसकी रक्षा के संदेश के साथ हुआ। टाटा स्टील के ओर माइंस एंड क्वेरीज (OMQ) डिविजन के जेनरल मैनेजर पंकज सतीजा के साथ इस अवसर पर मुख्य अतिथि थीं वकील और कला प्रेमी सुश्री नेहा एमआर अग्रवाल।

समापन समारोह में जमशेदपुर के सोहराई कलाकार श्री विजेंद्र कुमार को सम्मानित करती हुईं नेहा एमआर अग्रवाल

इस अवधारणा और अवसर पर टिप्पणी करते हुए सुश्री अग्रवाल ने कहा, ‘नोआमुंडी में जैवविविधता को बढ़ावा देने की दिशा में टाटा स्टील द्वारा की गई यह प्रोत्साहक पहल है। कला की समस्त विधाओं के लिए मंच उपलब्ध कराना और प्राचीन कला रूपों को पुनर्जीवित करना सही मायने में सराहनीय है।’

उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए श्री सतीजा ने कहा, ‘कला एक माध्यम है जो किसी भी आयुसीमा का मोहताज नहीं है और जन संवाद के लिए यह एक बेहतरीन माध्यम है। कला को जैवविविधता से जोड़ना राष्ट्रीय जैवविधता लक्ष्यों को पूरा करने हेतु सामान्य जागरुकता जगाने की दिशा में हमारे द्वारा किया जाने वाला एक प्रयास है।’

झारखंड, उड़ीसा और प. बंगाल के कुल 25 कलाकारों को मुख्य अतिथि द्वारा सम्मानित किया गया। नोआमुंडी के एमई स्कूल, टाटा डीएवी स्कूल, सेंट मैरी स्कूल और पद्मावती जैन शिशु मंदिर स्कूल के लगभग 80 बच्चे अपने स्टेज प्रदर्शनों और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए सम्मानित किए गए।   ऑन-स्पॉट ड्रॉइंग प्रतियोगिता के विजेताओं को भी सम्मानित किया गया।  टाटा स्टील रुरल डेवलपमेंट सोसाइटी की कुक्कड़ नाटक टीम को अभी चल रहे ‘स्वच्छ पखवाड़ा’ में स्वच्छता और स्वास्थ्य का संदेश फैलाने में उनके समर्पित प्रयासों के लिए पुरस्कृत किया गया।   ‘जैब कला विविधता’ के द्वितीय संस्करण में नोआमुंडी और उसके आस-पास के स्कूली बच्चों सहित 2500 से अधिक लोगों ने शिरकत की।

कला को प्रोत्साहित करने वाला यह जैवविविधता समारोह रंगारंग प्रदर्शनों की एक सुंदर परिदृश्य के रूप में विकसित हुआ है क्योंकि प्रत्येक कला-रूप ने जैवविविधता, रचनात्मकता तथा कलाकारों की विशिष्ट शैली परिलक्षित किया है। इस चार दिवसीय जैवविविधता उत्सव का शुभारंभ 26 दिसंबर 2017 को चाईबासा के डिविजनल फॉरेस्ट ऑफिसर कुमार आशुतोष ने किया। जैवविविधता उत्सव में यह पहली बार है कि जैवविविधता का संदेश देने के लिए स्कूली बच्चों द्वारा संस्कृत में एक प्रहसन प्रस्तुत किया गया।

समापन समारोह में उपस्थित थे नोआमुंडी आयरन माइन, टाटा स्टील के प्रमुख आरपी माली  प्रॉसेसिंग एंड लॉजिस्टिक्स, OMQ, टाटा स्टील के प्रमुख पीके ढाल, जमशेदपुर के जानेमाने कैनवास कलाकार श्री वृंदावन देबनाथ और माटी घर (एनजीओ), जमशेदपुर के संचालक वीरेंद्र कुमार।