नवम्बर 07, 2017

टाटा स्टील नोआमुंडी द्वारा हॉकी ऑस्ट्रेलिया के साथ मिलकर लड़कियों के लिए हॉकी प्रशिक्षण की सुविधा

नोआमुंडी: अपने परिचालन क्षेत्रों में खेल-कूद को बढ़ावा देने के प्रयास के तहत टाटा स्टील के ओर माइंस & क्वॉरीज (OMQ) डिविजन ने हॉकी ऑस्ट्रेलिया (ऑस्ट्रेलिया में हॉकी का नियामक निकाय) के साथ मिलकर नोआमुंडी के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय (KGBV) की लड़कियों के लिए आज औपचारिक रूप से हॉकी प्रशिक्षण की शुरुआत की। हॉकी ऑस्ट्रेलिया के साथ टाटा स्टील की सहभागिता भारत में हॉकी खेल को प्रोत्साहन देना और उसे लोकप्रिय बनाने के लिए है। 

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की लड़कियों की हॉकी टीम की खिलाड़ी

नोआमुंडी में टाटा स्टील रुरल डेवलपमेंट सोसाइटी द्वारा समन्वित इस प्रयास का लक्ष्य है युवाओं को हॉकी की ओर आकर्षित करना। इस सूझ के तहत उन्हें रोचक, मगर साथ ही व्यावसायिक माहौल में खेल की मूल बातों का ज्ञान दिया जाना है। ‘हुक इन 2 हॉकी’ प्रोग्राम के तहत अभी नोआमुंडी की 30 चुनिंदा लड़कियों को हॉकी का प्रशिक्षण दिया जाना है।

हॉकी ऑस्ट्रेलिया द्वारा प्रदत्त हॉकी किट टाटा स्टील के OMQ डिविजन के जेनरल मैनेजर पंकज सतीजा ने आज KGBV की चुनिंदा लड़कियों में वितरित किए। किट में हॉकी स्टिक, शिन-गार्ड, टी-शर्ट, गम शील्ड आदि हैं।

इस पहल पर बोलते हुए, श्री सतीजा ने कहा, ‘टाटा स्टील में खेलकूद एक जीवन शैली की तरह है। हॉकी ऑस्ट्रेलिया के साथ साझेदारी ग्रामीण क्षेत्रों में युवा हॉकी खिलाड़ियों के जीवन को आकार देगी।’

इसी तरह, टाटा स्टील में स्किल डेवलपमेंट के प्रमुख कैप्टन अमिताभ ने कहा, ‘यह स्कूल की युवा लड़कियों के लिए इस खेल को सीखने और विकसित करने का एक बेहतरीन मंच है। यह झारखंड में अपने किस्म का एक अनूठा प्रयास है।’

वर्षों से झारखंड ने भारतीय हॉकी टीम को कुछ बेहतरीन अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी दिए हैं। पश्चिम सिंहभूमि के जनजातीय प्रदेशों में इसकी लोकप्रियता के मद्देनजर नोआमुंडी को टाटा स्टील ने ग्रामीण क्षेत्र की प्रतिभा को प्रोत्साहित करने के लिए लड़कियों की हॉकी की विकास भूमि के रूप में चयन किया है।