नवम्बर 06, 2017

टाटा स्टील कलिंगनगर में भारत का सबसे बड़ा CDQ कारखाना एक संसाधन-कुशल चक्रीय अर्थव्यवस्था के प्रति प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है

कलिंगनगर: उत्पादकता, ऊर्जा-कुशलता तथा पर्यावरण कार्यक्रमों में वृद्धि की ओर अपनी अनवरत प्रगति के अगले चरण में, टाटा स्टील ने उड़ीसा के जाजपुर जिले में कलिंगनगर इंडस्ट्रियल काम्प्लेक्स में स्थित, अपने अत्याधुनिक ग्रीनफील्ड स्टील प्लांट में भारत के सबसे बड़े कोक ड्राय क्वैंशिंग (CDQ) कारखाने की स्थापना की है, जो प्रति घंटे 200 मीट्रिक टन कोक प्रबंधन में सक्षम है।

CDQ एक ऊष्मा पुनःप्राप्ति प्रणाली है जो कोक को कोक ओवम से ठंडा करती है। यह स्टील उत्पादन में अत्यधिक प्रतिष्ठित ऊर्जा-कुशल तथा पर्यावरण हितैषी कारखाना है जहां गर्म कोक को लगभग 1,000 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर कोक ओवन से निकाला जाता है, और इसे गैस प्रवाहित कर ठंडा तथा सूखा बनाया जाता है और इसके परिणामतः उत्पन्न भाप को एक बेकार ऊष्मा पुनःप्राप्ति बॉयलर में उपयोग कर बिजली बनाई जाती है।

प्रत्यक्ष ऊष्मा के रूप में, कूलिंग चेंबर में ऊष्मा हस्तांतरण के द्वारा प्राप्त, इसे CDQ द्वारा भाप उत्पादन, बिजली उत्पादन में ऊष्मा संसाधन के तौर पर प्रयुक्त किया जाता है, जो एक स्वच्छ तथा हरित ऊर्जा है। इससे ऊर्जा उत्पादन के लिए प्राकृतिक संसाधनों पर निर्भरता में कमी आती है, जिससे द्वितीयक संसाधन प्रबंधन तथा तकनीकी मिश्रण के द्वारा संसाधन दक्षता बढ़ती है।

इसके अलावा, परंपरागत तर क्वैंशिंग के मुकाबले, CDQ के और कई लाभ हैं जैसे धूल उत्सर्जन में कमी तथा कोक गुणवत्ता में वृद्धि। यह पर्यावरण-हितैषी प्रौद्योगिकी प्रति टन कोक में 0.11-0.14 टन की मात्रा तक कार्बन डाइऑक्साइड के उत्सर्जन में कमी, तथा प्रति टन कोक में 300-400 ग्राम तक धूल उत्सर्जन में कमी लाकर जलवायु परिवर्तन की प्रक्रिया को रोकने में सहायक साबित होगी। इसके अन्य फायदों में सम्मिलित है काफी मात्रा में पानी की बचत करना, और वह भी एक संकटग्रस्त संसाधन है।

टाटा स्टील कलिंगनगर में स्थापित CDQ प्रणाले के आपूर्तिकर्ता तथा प्रौद्योगिकी सहभागी जापान आधारित निप्पोन स्टील तथा सुमकिन इंजीनियरिंग (NSENGI) थे। इस परियोजना को एस्सार प्रॉजेक्ट्स ने कार्यान्वित किया।