सितम्बर 11, 2017

टाटा पावर के मैथन पावर संयंत्र ने वन सृजन वृक्षारोपण अभियान के हिस्से के रूप में 1,000 पौधे वितरित किए

मैथन और धनबाद: टाटा पावर तथा दामोदर वैली कारपोरेशन (डीवीसी) के बीच के 74:26 संयुक्त उपक्रम, मैथन पावर (एमपीएल), सतत रूप से पर्यावरण के संरक्षण की दिशा मे योगदान करता रहा है। इसी प्रतिबद्धता के अनुरूप तता टिकाऊ प्रगति और पर्यावरण संरक्षण के लिए एमपीएल ने वन सृजन मनाया, जो कि झारखंड सरकार की वृक्षारोपण मुहिम का समर्थन करने वाली एक पहल है। 1,000 से अधिक फल तथा लकड़ी के वृक्षों के पौधों को एमपीएल प्रबंधन द्वारा वर्तमान एमएलए अरूप चैटर्जी को सौंपे गए।

टाटा पावर के मैथन पावर संयंत्र ने वन सृजन वृक्षारोपण अभियान का आयोजन किया

इस पहल का उद्देश्य एमपीएल व निरसा के क्षेत्रों में हरित व स्वच्छ पर्यावरण की दिशा में कदम उठाना था। पौधारोपण पहल के हिस्से के रूप में बांटे गए इन पौधों में आम, नारियल, जामुन, कटहल, अमरूद तथा सागवन के पौधे शामिल थे। ये पौधे सारे निरसा क्षेत्र में लगाए जाएंगे और बेहतर वृद्धि के लिए ग्रामीण लोगों द्वारा इनकी देखभाल की जाएगी। इस पहल में प्रत्येक हितधारक द्वारा पर्यावरण संरक्षण तथा स्थिरता के काम को बढ़ावा देने व मजबूती प्रदान करने की जरूरत को रेखांकित किया गया।

इस पहल पर बोलते हुए, के चंद्रशेखर, सीईओ व ईडी, एमपीएल ने कहा, “मैथन पावर तथा टाटा पावर का फलसफा मजबूत स्थिरता एजेंडे के निर्माण का है। इस पहल के माध्यम से हमारा इरादा हमारे परिचालन क्षेत्रों में हमारे समुदायों द्वारा वृक्षारोपण तथा प्रकृति के संरक्षण को प्रोत्साहित करते हुए जैव संतुलन को बनाए रखने का है। हर साल हम वन सृजन का बड़े स्तर पर आयोजन करते हैं और इस साल हमें फिर से जबरदस्त प्रतिक्रियाएं मिली है जिससे हम प्रसन्न हैं। हम ऐसी पहलों को अपनाना जारी रखेंगे जो हमारे समाज को अधिक हरित तथा स्वास्थ्यकर बनाती हैं।”