सितम्बर 07, 2017

टाटा पावर के इंडस्ट्रियल एनर्जी ने कलिंगानगर, ओडिशा में कर्मचारी स्वयंसेवा पहल का आयोजन किया

कलिंगानगर और भुवनेश्वर: भारत की सबसे बड़ी एकीकृत पावर कंपनी टाटा पावर, समाज की सेवा तथा स्थानीय समुदायों के प्रगतिशील विकास व वृद्धि की दिशा में योगदान करते हुए अनेक लोगों के जीवनों में महत्वपूर्ण प्रभाव डालने पर विश्वास करती है। इसी व्यवसाय फलसफे के अनुरूप, इंडस्ट्रियल एनर्जी (आईईएल) कलिंगानगर संयंत्र, ओडिशा ने कर्मचारी स्वयंसेवा पहल के हिस्से के रूप में कलिंगानगर के आसपास के इलाके में विभिन्न सामाजिक मुद्दों पर जागरूकता रैलियां आयोजित की। इस पहल ने कलिंगानगर में 5,000 से अधिक लोगो को लाभ दिया है।

टाटा पावर इंडस्ट्रियल एनर्जी ने कलिंगानगर के आसपास के इलाके में विभिन्न सामाजिक मुद्दों पर जागरूकता रैलियां आयोजित की

समुदायों और विद्यार्थियों के बीच विभिन्न सामाजिक मुद्दों पर जागरूकता फैलाने के लिए एक तीन दिनी प्रोग्राम आयोजित किया गया था। इस प्रोग्राम को पहले दिन में मापुर हाईस्कूल में स्वच्छता पर एक अंतर-विद्यालीय वाद-विवाद के साथ स्वच्छ भारत पर एक जागरूकता रैली शामिल थे। सीनियर व जूनियर डिवीजन के लगभग 40 विद्यार्थियों ने इस प्रतिस्पर्धा में हिस्सा लिया। दूसरे दिन के प्रोग्राम के हिस्स के रूप में बालिका शिक्षा पर ऊचाबलि पंचायत हाईस्कूल में एक मेगा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आईईएल कर्मचारियों के साथ 300 से अधिक विद्यार्थियों ने इस जागरूरता रैली में हिस्सा लिया और इस मुद्दे पर एक नुकक्ड़ नाटक का आयोजन किया। इस पहल के तीसरे दिन में दौलाकाना पंचायत हाई स्कूल में एक सड़क सुरक्षा जागरूकता प्रोग्राम का आयोजन किया गया। इस सड़क सुरक्षा जागरूकता प्रोग्राम को डीजीपी हाईस्कूल से शुरु किया गया और राष्ट्रीय हाईवे (टोमका छाक) पर ले जाया गया। लगभगा 300 विद्यार्थियों, शिक्षकों तथा टाटा पावर कर्मचारियों ने इस सड़क सुरक्षा जागरूकता रैली में हिस्सा लिया।

इस पहल पर टिप्पणी करते हुए विजयंत रंजन, सीईओ, आईईएल तथा चीफ कलिंगानगर स्टेशन ने कहा,“इंडस्ट्रियल एनर्जी लिमिटेड में हम हमेशा से हमारे समुदायों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध रहे हैं। जबकि इस रैली का उद्देश्य समुदायों में सामाजिक मुद्दों पर जागरूकता फैलाना था, इस प्रोग्राम ने विद्यार्थियों को उनके आत्मविश्वास के स्तर को बढ़ाने व उनके सचार कौशलों को तराशने में भी सहायता की। हमारे कर्मचारी हमेशा ऐसी पहलों को अपनाने में और लोगों के जीवन में अंतर पैदा करने में अग्रणी रहते हैं। इस प्रोग्राम को सफल बनाने और अपना समर्थन देने के लिए हम स्कूलों, शिक्षकों और हमारे कर्मचारियों को शुक्रिया अदा करना चाहते हैं। इसी प्रतिबद्धता के अनुरूप हम समाज की बेहतरी के लिए ऐसी पहलों का आयोजन जारी रखेंगे।”

इस प्रोग्राम में श्री रंजन, सीईओ, आईईएल तथा चीफ कलिंगानगर स्टेशन, दिलीप कुमार साहू, रश्मि पटनायक, ए के मन्ना, संजय कु साहू, जितेन्द्र जेना, अक्षय सत्पथी, भास्कर पात्रा, सस्मिता पाणि, पिनाकी सूर, अमित तिवारी, ज्योतिर्मय झा, किशोर अमरेनी, एस सास्मिता, एमआर नंदी, आशीष  श्रीवास्तव, बिप्लव पटनायक, तपन कु पांडा, प्रसनजीत  रे, जीसी मोहंती, विनोद डोरा, प्रताप नाथ, और अभय कुमार महाराज (प्रोग्राम मैनेजर, सीएएडी) शामलि थे।