नवम्बर 28, 2017

टाटा पावर ने मुंबई में मुफ्त स्वास्थ्य जागरुकता शिविरों का आयोजन किया

महिलाओं का विस्तृत परीक्षण डॉक्टरों द्वारा किया गया

मुंबई: टाटा पावर, भारत की सबसे बड़ी एकीकृत पावर कंपनी, अपने संचालन क्षेत्र में तथा आसपास निवास करनेवाले समुदायों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्यसेवा सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए कार्यरत रहती है। अपनी इसी नीति के अनुसार, टाटा पावर द्वारा मुंबई के स्लम इलाकों में मुफ्त स्वास्थ्य जागरुकता शिविरों का आयोजन किया गया। टाटा पावर कम्युनिटी डेवलपमेंट ट्रस्ट (TPCDT) द्वारा मुंबई तथा आसपास के स्लम निवासियों की मुफ्त चिकित्सकीय जांच तथा दवाओं का मुफ्त वितरण करने के लिए पांच कैंपों का आयोजन किया गया।

ये शिविर, जिनका आयोजन एक माह के बाद किया जाता है, रोगनिवारक स्वास्थ्यसेवा के उपभोग पर होनेवाले खर्च में कमी लाने पर केंद्रित हैं। इन कैंपों में 622 से ज्यादा व्यक्तियों लाभान्वित किया गया। इस अभियान में महिलाओं, बच्चों तथा बुजुर्ग लोगों को प्राथमिकता दी गई। इन मेडिकल कैंपों का आयोजन लार्सन एंड टूब्रो (L&T) के सीएसआर विंग तथा बीएसईबी हॉस्पीटल की सहभागिता से किया गया। इन कैंपों को प्रशिक्षित डॉक्टर, नर्स तथा फार्मासिस्ट द्वारा चलाया गया तथा इसमें आवश्यक दवाओं के साथ चलंत मेडिकल वैन से सहायता पहुंचाई गई।

स्लम निवासियों में मुफ्त दवा वितरण

इस कार्यक्रम के बारे में बताते हुए, टाटा पावर के कार्यकारी निदेशक तथा सीओओ, अशोक सेठी ने कहा, “टाटा पावर में हम, वंचित समुदाय के स्वास्थ्य तथा कल्याण को प्राथमिकता देते रहे हैं। हमें खुशी है कि हम जरूरतमंद लोगों में जागरुकता का प्रसार तथा उन्हें स्वास्थ्यसेवा सुविधाएं उपलब्ध करा पाए हैं। हम इन कैंपों की सफलता के लिए काम करनेवाले स्वयंसेवकों तथा L&T टीम के प्रयासों की हार्दिक सराहना करते हैं। हमें प्राप्त प्रतिक्रियाओं ने हमें आगे और इसी प्रकार के प्रयासों का आयोजन करने के लिए प्रेरित किया है।”

TPCDT टीम की योजना 10 से ज्यादा स्लम समुदायों में इसी प्रकार के और कैंपों का आयोजन करना, तथा 1,000 से ज्यादा लोगों तक इसका लाभ पहुंचाना है। इन स्वास्थ्य कैंपों की स्लम निवासियों द्वारा काफी सराहना की गई तथा साझेदारी के माध्यम से लगभग रु 67,500 के संसाधन जुटाए गए।