सितम्बर 11, 2017

टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रीब्यूशन ने सुरक्षा नवाचार पुरस्कार 2017 जीता

नई दिल्ली: टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रीब्यूशन (टाटा पावर-डीडीएल) ने इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया) द्वारा सुरक्षा & गुणवत्ता फोरम के संरक्षण में स्थापित सुरक्षा नवाचार पुरस्कार 2017 को जीता है। यह पुरस्कार टीम टाटा पावर-डीडीएल को मनीष सिसोदिया, उप मुख्यमंत्री, एनसीटी दिल्ली सरकार द्वारा, दिल्ली में सुरक्षा कनवेंशन 2017 में दिया गया।

टाटा पावर-डीडीएल को सुरक्षा नवाचार पुरस्कार 2017 देते हुए मनीष सिसोदिया, उप मुख्यमंत्री, एनसीटी दिल्ली सरकार

संगठनों में सुरक्षा प्रबंधन प्रणालियों में अनुकरणीय प्रतिबद्धता और नवाचार के लिए ये पुरस्कार दिए जाते हैं। यह पुरस्कार टाटा पावर-डीडीएल की सुरक्षा पर अनुकरणीय पहलों और नवाचार के साथ-साथ विभिन्न हितधारकों के लिए पहलों के कार्यान्वयन पर हासिल परिणामों को सम्मानित करता है। एक जिम्मेदार संगठन के रूप में, टाटा पावर-डीडीएल सर्वोच्च सुरक्षा मानकों का पालन करती है और अपने कार्यस्थल की सुरक्षा के लिए विभिन्न सुरक्षा जांचों को अपनाती है व जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन करती है। इसके प्रतिष्ठानों में कार्यबल में सुरक्षा जागरूकता के निर्माण के लिए आपात स्थिति मॉक ड्रिल के साथ-साथ नियमित सुरक्षा ऑडिट का भी आयोजन किया जाता है। 

टाटा पावर-डीडीएल ने असुरक्षित खंभा प्रक्रिया की पहचान जैसे अनेक सुरक्षा नवाचारों को लागू किया है जिससे उच्च जोखिम खंभों को वर्गीकृत किया जाता है जिससे इसने ऐसे खंभों से होने वाली शिकायतों की संख्या व जोखिम कम करने के लिए पहलों को किया गया है साथ ही सभी फंक्शनों में उपयोग के लिए सीआरएम एप्लीकेशन से ऐसे खंभों की लिकेज भी की गयी है, इंजीनियरों तथा बिजनेस एसोसिएट कर्मचारिोयं के लिए ऑनलाअन सुरक्षा प्रशिक्षण भी इसमें शामिल है। उच्च से निम्न जोखिम गतिविधियों पर काम करने के लिए दक्षता आकलन और उनका वर्गीकरण, सुरक्षा मामलों पर रिपोर्टिंग के लिए ऐप्लीकेशन और तार्किक समाधान तक इसकी निगरानी, उत्पादन के लिए स्वचालित प्रक्रिया, कापा (सुधार कार्रवाई, रोकथाम कार्रवाई) के लिए सर्कुलेशन व निगरानी, फील्ड पर अनुपालन, वर्चुअल सेफ्टी संगठन की तैनाती, पार्कों, सड़क, एटीएम आदि जैसे सार्वजनिक स्थानों पर स्थापित बिजली के उपकरणों में अर्थ लीकेज परीक्षण के लिए मुहिम, समुदाय में सुरक्षा जागरूकता बढ़ाने के लिए 100 से अधिक नुक्कड़ नाटकों का आयोजन किया।

इस अवसर पर बोलतचे हुए, प्रवीर सिन्हा, सीईओ व एमडी, टाटा पावर-डीडीएल ने कहा, “हमारे अभिनव सुरक्षा उपायों के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियर्स द्वारा सुरक्षा नवाचार पुरस्कार 2017 हासिल करना सम्मान का विषय है। कंपनी की सफलता उन कर्मचारियों की प्रतिभा और प्रतिबद्धता से चलित होती है जो पूरे स्प्रेक्ट्रम में काम करते हैं और दुर्घटना-मुक्त कार्य वातावरण सुनिश्चित करते हैं। हमने अपने उपभोक्ताओं व कर्मचारियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए अनेक कदम उठाए हैं और यह पुरस्कार हमारी प्रतिबद्धता का वास्तविक प्रदर्शन करता है।"

टाटा पावर-डीडीएल के सोशल मीडिया चैनल: 

फेसबुक I ट्विटर I  यूट्यूब