दिसम्बर 13, 2017

टाटा पावर के क्लब एनर्जी ने एक प्लास्टिक मुक्त पर्यावरण के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए रैली का आयोजन किया

मुंबई: टाटा पावर के राष्ट्रव्यापी अभियान, क्लब एनर्जी ने ऊर्जा एवं प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण के महत्व पर नागरिकों को संवेदनशील बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यह अभियान देश के विभिन्न शहरों में पहुंचा है और मुख्यतः स्कूली छात्रों ने इसका नेतृत्व किया है। इस सिद्धांत का अनुसरण करते हुए महाराष्ट्र के ठाणे जिले में लोक पुरम पब्लिक स्कूल और श्री हरकिशनन इंग्लिश हाई स्कूल ने हरे-भरे और स्वस्थ पर्यावरण के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए आसपास के क्षेत्रों में एक प्रभावी रैली का आयोजन किया। क्लब एनर्जी रैली को एक शानदार सफलता बनाने के लिए लगभग 90 छात्र सड़कों पर उतर आए।

स्कूल के छात्रों ने हरे-भरे और स्वस्थ पर्यावरण के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए बैनर और नारे तैयार किए

यह रैली ठाणे के लोक पुरम पब्लिक स्कूल के कंजर्वेशन क्लब के पर्यावरण स्क्वॉड द्वारा आयोजित की गई थी। रैली का प्रमुख उद्देश्य लोक उपवन के आसपास के सब्जी विक्रेताओं से संपर्क करना और प्लास्टिक के हानिकारक प्रभावों पर उन्हें संवेदनशील बनाना था। छात्रों ने सब्जी विक्रेताओं के साथ बातचीत की और उन्हें प्लास्टिक की थैलियों के उपयोग को कम करने के लिए प्रेरित किया। इसके अलावा बातचीत का उद्देश्य सब्जी विक्रेताओं को मनाना भी था कि वे ग्राहकों को सब्जियां उठाने के लिए कपड़े के थैले का उपयोग करने के लिए मनाएं।

रैली सुबह 10:30 बजे लोक पुरम स्कूल से शुरू हुई और दोपहर 12 बजे समाप्त हुई। रैली स्कूलों के आसपास के क्षेत्रों और यहां तक कि स्थानीय बाजारों में से होकर गुजरी। इसके बाद छात्रों ने स्कूल वापस जाकर अपनी नियमित कक्षाएं जारी रखीं। रैली के दौरान करीब 1000 लोगों को संवेदनशील बनाया गया।

इस पहल पर बोलते हुए टाटा पावर के एमडी व सीईओ अनिल सरदाना ने कहा, “पिछले दशक में टाटा पावर का क्लब एनर्जी एक अवधारणा से बढ़कर ऊर्जा संरक्षण के लिए राष्ट्र के प्रमुख अभियान में से एक के रूप में उभरा है। यह देखना अधिक उत्साहवर्धक है कि इस पहल का नेतृत्व ऐसे स्कूली छात्र कर रहे हैं जो एक हरे-भरे और बेहतर भविष्य की ओर लक्षित हैं। लोक पुरम पब्लिक स्कूल द्वारा किया गया यह पहल प्रशंसनीय है और एक स्वच्छ समाज के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को सुदृढ़ करता है। हम इस अवसर पर क्षेत्र में सब्जी विक्रेताओं द्वारा प्लास्टिक बैग के कम से कम उपयोग सुनिश्चित करने के लिए चलाए गए एक सफल अभियान के लिए हमारे स्वयंसेवकों के साथ भाग लेने वाले छात्रों और स्कूल को बधाई देते हैं।”;

क्लब एनर्जी कार्यक्रम की पहुंच भारत के 500 से अधिक स्कूलों तक हो गई है और 15 मिलियन से अधिक नागरिकों को संवेदनशील बनाया गया है, जिन्होंने बदले में आज तक 21 MU से अधिक बिजली बचाने में सहायता की है। क्लब में 1,536 आत्मनिर्भर मिनी क्लब एनर्जीज भी हैं और उन्होंने कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार जीते हैं।