जनवरी 11, 2018

टाटा पावर द्वारा मुंबई में बिजली सुरक्षा सप्ताह का आयोजन

मुंबई, पुणे, लोनावला, अलीबाग: भारत की सबसे बड़ी एकीकृत ऊर्जा कंपनी टाटा पावर ने हमेशा ही अपने कर्मचारियों, ग्राहकों और समुदायों की सुरक्षा को अपनी मूल प्राथमिकता के रूप में देखा है। अपने परिचालन क्षेत्रों और अपने सभी बिजनस प्रॉसेस में सुरक्षा उपायों को अपनाने और बढ़ावा देने में टाटा पावर अग्रणी रहे हैं। अपनी इसी प्रतिबद्धता के तहत टाटा पावर ने महाराष्ट्र सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के साथ मिलकर मुंबई में बिजली सुरक्षा सप्ताह का शुभारंभ किया।

मुंबई में आयोजित ‘बिजली सुरक्षा सप्ताह’में उपस्थित गणमान्य हस्तियां

बिजली सुरक्षा सप्ताह का उद्घाटन महाराष्ट्र सरकार के ऊर्जा मंत्री श्री चंद्रकांत बावनकुले द्वारा मुंबई के यशवंतराव चव्हान ऑडिटोरियम में किया गया और इस अवसर ऊर्जा क्षेत्र के अन्य जानी-मानी हस्तियों जैसे प्रधान ऊर्जा सचिव श्री अरविंद सिंह; बेस्ट के महाप्रबंधक डॉ. सुरेंद्रकुमार बागडे तथा टाटा पावर के सीओओ एवं एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर अशोक सेठी के साथ उपस्थित थे उद्योग एवं खनन मंत्री और मुंबई जिले के अभिभावक मंत्री श्री सुभाष देसाई। इस मौके पर इलेक्ट्रिकल इंस्पेक्टोरेट वेबसाइट http://cei.maharashtra.gov.in/e_index.html तथा एक बिजली सुरक्षा पुस्तिका का भी विमोचन किया गया।

बिजली संबंधी दुर्घटनाओं तथा सुरक्षा में चूक की घटनाओं को कम करने के उद्देश्य से सप्ताह के दौरान जिन प्रयासों पर बल दिया जाएगा वे बिजली सुरक्षा उपायों के रूप में माने जाएंगे जिन्हें पूरे साल क्रियान्वित करने पर जोर दिया जाएगा। सप्ताह भर चलने वाला कार्यक्रम महाराष्ट्र के नागरिकों को ISI मार्का वाला बिजली के उपकरणों का इस्तेमाल करने, अर्थ लीकेज सर्किट ब्रेकेज (ECLB) के महत्व तथा उपकरण अर्थिंग और साथ ही इलेक्ट्रिकल सर्किट को ओवरलोड करने बचने के महत्व आदि पर जागरुक बनाएगा।

इस अवसर पर बोलते हुए श्री सेठी ने कहा, ‘ऊर्जा मंत्रालय द्वारा आयोजित बिजली सुरक्षा सप्ताह का अभिन्न हिस्सा बनकर हमें अत्यंत प्रसन्नता हो रही है। टाटा पावर में हम परिचालन के इस क्षेत्र को बहुत ही गंभीरता से लेते हैं जो कि हमारे इस संदर्भ में द्वारा सालों भर चलाए जाने वाले विभिन्न प्रयासों से जाहिर होता है। मुंबई में जन जागृति अभियान चलाने से लेकर बिजली से सुरक्षा के सर्वोत्तम कार्यव्यवहारों के बारे में ग्राहकों को शिक्षित करने और टाटा पावर के क्लब एनर्जी के छात्रों के साथ रैली आयोजित करने तक टाटा पावर द्वारा मुंबई और भारत में बिजली सुरक्षा के संदेश फैलाने की दिशा में टाटा पावर अग्रणी रहेंगे। हम भारत में टाटा पावर स्किल डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट्स में इलेक्ट्रीशियनों और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरों को प्रशिक्षित करने के अपने प्रयासों में बहुत खुश हैं जिससे ऊर्जा क्षेत्र में सुरक्षा और तकनीकी अंतराल को पाटा जा रहा है।’

इस अवसर पर महाराष्ट्र सरकार के ऊर्जा मंत्री ने बिजली सुरक्षा अभियान की सफलता के लिए पिछले तीन साल से लगातार किए जाने वाले टाटा पावर के कार्यों की सराहना की। चीफ इलेक्ट्रिक इंस्पेक्टर ऑफिस, चेंबूर ने भी शहाद स्थित टाटा पावर स्किल डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट द्वारा कुशल कामगारों तथा इंजीनियरों की दक्षता निर्माण में दिए जाने वाले योगदानों तथा बिजली ठेकेदारों और बिजली इंजीनियरों के लिए ऑन द जॉब ट्रेनिंग सुविधा मुहैया करने की सराहना की जिससे इंडस्ट्री के लिए आवश्यक कौशल के अंतराल को पाटा जाना संभव हुआ है।

‘बिजली सुरक्षा सप्ताह’ के शुभारंभ के तहत टाटा पावर, आर-इनफ्रा, बेस्ट, MSEDCL, इलेक्ट्रिकल कॉन्ट्रैकटर एसोसिएशन, तथा लिफ्ट कॉन्ट्रैकटर एसोसिएशन जैसे सभी विद्युतीय प्रतिष्ठानों में चीफ इलेक्ट्रिकल इंस्पेक्टर, चेंबूर के मार्गदर्शन के तहत विभिन्न सुरक्षा प्रयासों को अपनाते देखा जाएगा।