अक्तूबर 12, 2017

टाटा तथा भारती अपने ग्राहक दूरसंचार व्यवसाय का विलय करने जा रहे हैं

टाटा टेलीसर्विसेज लिमिटेड (TTSL) तथा टाटा टेलीसर्विसेज महाराष्ट्र (TTML), जिन्हें साथ मिलाकर टाटा कहा जाएगा, अपने ग्राहक मोबाइल व्यवसाय का विलय भारती एयरटेल के साथ करने जा रहे हैं

  • टाटा CMB का विलय भारती एयरटेल के साथ होगा
  • 40 मिलियन से ज्यादा ग्राहक भारती एयरटेल से जुड़ेंगे और उन्हें इसकी 3G तथा 2G सेवाओं के माध्यम से अत्याधुनिक 4G तकनीक का फायदा मिलेगा
  • एक ऋणमुक्त, नकद-मुक्त आधार पर विलय
  • सभी पूर्व के दायित्व तथा बकाया टाटा द्वारा वहन किए जाएंगे
  • भारती एयरटेल को टाटा के बकाया स्पेक्ट्रम दायित्व का एक छोटा सा हिस्सा भुगतान करना होगा
  • इस विलय से भारती एयरटेल का पूर्व से मौजूद विशाल स्पेक्ट्रम भंडार और सशक्त होगा, जिसमें 1,800, 2,100 तथा 850 MHz बैंड के अतिरिक्त विशिष्ट अतिरिक्त स्पेक्ट्रम जुड़ेंगे, इन सभी का 4G के लिए व्यापक इस्तेमाल होता है
  • इस सौदे से भारती एयरटेल को टाटा के मौजूदा फाइबर नेटवर्क का उपयोग करने की सुविधा भी मिलेगी
  • TTL के ग्राहक तथा राजस्व आधार के विलय से भारती एयरटेल के राजस्व बाजार हिस्से (RMS) में भी और मजबूती आएगी)
  • टाटा Viom में अपना हिस्सा बनाए रखेंगे तथा सहभागी दायित्वों का ध्यान रखेंगे

नई दिल्ली:  भारती एयरटेल लिमिटेड (भारती एयरटेल), भारत के सबसे बड़े दूरसंचार सेवा प्रदाता हैं, तथा टाटा, भारत के अग्रणी औद्योगिक तथा सेवा समूह, ने आज घोषणा की है कि उन्होंने TTSL तथा TTML के अपने ग्राहक मोबाइल व्यवसाय (CMB) का विलय भारती एयरटेल के साथ करने के लिए एक समझौता करार किया है। इस अधिग्रहण को अभी अपेक्षित विनियामक स्वीकृति प्राप्त होनी है।

इस करार के एक भाग के रूप में, देशभर के 19 सर्किलों (TTSL के तहत 17 और TTML के तहत 2) में टाटा CMB के समस्त कामकाज का विलय भारती एयरटेल में हो जाएगा। ये सर्किल भारत की काफी बड़ी आबादी तथा ग्राहकीय आधार का प्रतिनिधित्व करते हैं।

इस प्रस्तावित विलय के तहत टाटा CMB के सभी ग्राहकों तथा परिसंपत्तियों का हस्तांतरण भारती एयरटेल को किया जाना शामिल है, जिससे भारती एयरटेल के कुल ग्राहक आधार तथा नेटवर्क में और वृद्धि होगी। इससे भारती एयरटेल को उसके मजबूत स्पेक्ट्रम फुटप्रिंट में 850, 1,800, & 2,100 MHz बैंडों में 178.5 MHz स्पेक्ट्रम (जिसमें 71.3 MHz मुक्त किया गया है) की बढ़ोत्तरी करते हुए उसे और मजबूत करने का मौका मिलेगा। भारती एयरटेल टाटा CMB ग्राहकों को ग़ुणवत्तापूर्ण सेवा सुनिश्चित करेंगे, तथा साथ में उन्हें अपने नए उत्पाद पोर्टफोलियो से अतिरिक्त लाभ भी प्रदान करेंगे, जिससे ग्राहकों को उत्कृष्ट बातचीत तथा डेटा सेवाएं, मोबाइल बैंकिंग, VAS तथा घरेलू, अंतर्राष्ट्रीय रोमिंग सुविधाएं भी प्राप्त होंगी। टाटा CMB का संचालन तथा सेवाएं इस सौदे के पूर्ण होने तक सामान्य रूप से जारी रहेंगी।

टाटा तथा भारती एयरटेल सहयोग के अन्य द्विपक्षीय क्षेत्रों की खोज के लिए साथ मिलकर काम करेंगे, जिससे दोनों समूहों को लाभ होगा। इस सौदे के प्रावधान के अनुसार भारती एयरटेल को टाटा के मौजूदा फाइबर नेटवर्क के भाग के लिए अविलोप्य उपयोग अधिकार (IRU) भी मिल जाएंगे।

यह विलय एक ऋणमुक्त- नकद-मुक्त आधार पर किया जा रहा है, सिवाय इसके कि भारती एयरटेल पर DoT के प्रति टाटा के बकाया स्पेक्ट्रम दायित्व का एक छोटा हिस्सा भुगतान करने का दायित्व दिया गया है, जिसे विलंबित आधार पर भुगतान किया जाना है।

टाटा के कर्मचारियों को दो व्यवसायों के लाइन पर डिमर्ज किया जाएगा, अर्थात, CMB तथा EFL (उद्यम तथा फिक्स लाइन और ब्रॉडबैंड), तथा एक अनुकूलतम मानवबल योजना के अनुसार तदनुकूल स्थांतरित किया जाएगा।

टाटा अपने उद्यम व्यवसाय के टाटा कम्यूनिकेशन तथा इसके खुदरा फिक्स लाइन और टाटा स्काई के ब्रॉडबैंड व्यवसायों के साथ संयोजन की संभावनाओं की तलाश के प्राथमिक चरण में भी हैं। इस प्रकार के लेनदेन संबद्ध बोर्ड तथा अन्य सक्षम स्वीकृतियों के अधीन होंगे।

टाटा Viom में अपना हिस्सा बनाए रखेंगे, और इससे संबद्ध दायित्वों का ध्यान रखेंगे।

सुनील भारती मित्तल, अध्यक्ष, भारती एयरटेल,   ने कहा, “यह भारतीय मोबाइल उद्योग में और अधिक समेकन की दिशा में एक महत्वपूर्ण प्रगति है और इससे मजबूत प्रौद्योगिकी तथा ठोस स्पेक्ट्रम पोर्टफोलियो के माध्यम से विश्वस्तरीय तथा सस्ती दूरसंचार सेवाएं प्रदान करते हुए भारत की डिजिटल क्रांति का नेतृत्व करने की हमारी प्रतिबद्धता को और बल मिलता है। पूर्ण होने पर, यह प्रस्तावित अधिग्रहण निर्बाध समेकन साबित होगा, ग्राहकों के लिए भी तथा नेटवर्क के लिए भी, और इससे कई महत्वपूर्ण सर्किलों में हमारी बाजार स्थिति को और मजबूती मिलेगी। टाटा के ग्राहक भारत के सबसे विस्तृत और सबसे तेज बातचीत और डेटा नेटवर्क के साथ ही एयरटेल के अपनी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ उत्पाद तथा सेवाओं का आनंद उठा सकेंगे।”

“अतिरिक्त स्पेक्ट्रम का अधिग्रहण एक आकर्षक व्यावसायिक प्रस्ताव निर्मित करेगा। यह हमारे पूर्व से ठोस पोर्टफोलियो को और मजबूत करेगा तथा हमारे हितधारकों के लिए विशिष्ट सहयोग प्रदान करते हुए पर्याप्त दीर्घकालिक मूल्य सृजित करेगा,” श्री मित्तल ने आगे कहा।

इस दोपहर को हुई भारती बोर्ड की बैठक में इस सौदे को मंजूरी मिल गई है।

एन चंद्रशेखरन, टाटा संस के अध्यक्ष,  ने कहा, “हमारा विश्वास है कि आज का करार एक श्रेष्ठ तथा टाटा समूह और इसके हितधारकों के लिए सर्वाधिक उपयुक्त समाधान है। हमारे पुराने ग्राहकों तथा कर्मचारियों के लिए एक सही घर की तलाश करना हमारी प्राथमिकता थी। हमने कई प्रकार के प्रस्तावों का आकलन किया और भारती के साथ यह करार करते हुए अत्यंत प्रसन्न हैं।”

टाटा संस के बोर्ड, TTSL तथा TTML ने इस सौदे को मंजूरी दे दी है।

गोल्डमैन सैक्स (इंडिया) सेक्यूरिटीज प्राइवेट लिमिटेड टाटा के वित्तीय परामर्शी हैं।