मई 12, 2017

चतुर्थ तिमाही में टाइटन कंपनी की आय में 44 फीसदी का इजाफा

चतुर्थ तिमाही, जनवरी–मार्च 2017, टाइटन कंपनी के लिए काफी अच्छा साबित हुआ, जिसमें कंपनी को 44.3 फीसदी की आय प्राप्त हुई। 2016-17 वित्तीय वर्ष में कंपनी ने 14.5 फीसदी का विकास दर्ज किया, जिससे मार्च 2017 तक इसे रु. 12,717 करोड़ की आय प्राप्त हुई। गौर करने वाली बात यह है कि कंपनी का यह प्रदर्शन नोटबंदी जैसे बदलने माहौल तथा विनियमनों की पृष्ठभूमि हासिल हुआ। कंपनी की Q4 में प्राप्त आय रु. 3,460 करोड़ रही, जो पिछले वर्ष रु. 2,398 करोड़ के आंकड़े पर थी।

वर्ष 2016-17 के लिए कर पूर्व लाभ (PBT) में 16.3 फीसदी के इजाफे के साथ रु. 1,033 करोड़ रहा, जो कर्मचारियों को ऑफर की गई असाधारण स्वैच्छिक अवकाश मद पर खर्च हुए रु. 96 करोड़ के बाद हासिल हुआ।

इस आसाधारण मद से पहले बीपीटी रु 1,130 करोड़ रहा, जो 27 फीसदी का इजाफा दिखाता है। इस वर्ष के लिए सकल लाभ रु. 762 करोड़ रहा, जो 9.2 फीसदी का इजाफा दिखाता है। ये आंकड़े कंपनी के लिए स्टैंडअलोन संख्या देते हैं और इनमें सब्सीडियरीज शामिल नहीं हैं।

कंपनी का ज्वेलरी व्यवसाय रु. 10,000 करोड़ तक जा पहुँचा। ज्वेलरी सेग्मेंट की आय में 17.4 फीसदी के इजाफे के साथ यह रु. 10,237 करोड़ रहा। इस वर्ष ज्वेलरी सेग्मेंट में कई सफल लॉन्च किए गए और साथ ही एक प्रभावशाली विवाह अभियान भी चलाया गया। कंपनी के घड़ी उद्योग ने रु. 2,028 करोड़ की आय दर्ज की, जो 2.7 फीसदी का विकास दर्शाती है।

इस वर्ष की मुख्य विशेषता में टाइटन का जक्स्ट प्रो, सोनाटा ऐक्ट – यानी महिलाओं के लिए सुरक्षा वाच –तथा फास्टट्रैक रिफ्लेक्स-फिटनेस बैंड टाइटन के जरिए स्मार्ट वाच की दुनिया में कदम रखना शामिल है। आइवेयर व्यवसाय से प्राप्त आय रु. 406 करोड़ थी, जो एक आक्रामक नेटवर्क विस्तार रणनीति के कारण 8.4 फीसदी का विकास दिखाती है। कंपनी के अन्य व्यवसाय में शामिल है ऐक्सेसरीज, फ्रैगरेंस तथा साड़ी, जिन्होंने रु. 65 करोड़ की बिक्री हासिल हुई, जो 18.4 फीसदी का विकास दिखाता है। कंपनी का पांचवाँ व्यवसाय- प्रिसिजन इंजीनियरिंग को एक सब्सिडियरी में बदल दिया गया और अब यह एक स्वतंत्र निकाय – टाइटन इंजीनियरिंग एंड ऑटोमेशन (टीईएएल) के रूप में कार्य कर रहा है। अन्य सेग्मेंट, ऐक्सेसरी तथा सब्सिडियरी, जैसे कि टीईएएल से टाइटन कंपनी को प्राप्त समग्र आय रु. 334 करोड़ रही।

इस वर्ष कंपनी ने अपने रिटेल नेटवर्क के आक्रामक विस्तार से घड़ियों, ज्वेलरी तथा आई वेयर व्यवसाय के 84 नए स्टोर खोले गए। 31 मार्च 2017 तक, कंपनी के 1,366 स्टोर्स थे, जो 1.8 मिलियन वर्ग फीट के रिटेल स्पेस में फैले हैं और इनका रिटेल टर्नओवर रु. 13,325 करोड़ का रहा।

टाइटन कंपनी के प्रबंध निदेशक, श्री भाष्कार भट ने कहा, "बाजार की स्थिति को देखते हुए कंपनी के प्रदर्शन के लिहाज से वर्ष 2016-17 एक संतुष्टि भरा साल रहा।"

कंपनी के ब्रांड की शक्ति, इसकी रिटेल पहुँच तथा वितरण नेटवर्क तथा नए उत्पाद की पेशकश की प्रभावशीलता तथा मार्केटिंग अभियान की एक कठिन माहौल में परीक्षा हुई। कंपनी के विभिन्न व्यवसाय ने अपना ध्यान कंपनी पर रखा और जहाँ भी जरूरत पड़ी कड़े कदम उठाए, ताकि विकास तथा लाभदेयता में वृद्धि की जा सके। हम मानते हैं कि हम आने वाले सालों के लिए एक अच्छे फाउंडेशन की स्थापना के लिए पूरी तरह से तैयार हैं और हम इसके लिए कदम उठा रहे हैं।”

कंपनी के प्रदर्शन को देखते हुए 12 मई 2017 को आयोजित बोर्ड बैठक में रु. 2.60 प्रति शेयर (260 फीसदी) की
घोषणा की गई।

31 मार्च 2017 को समाप्त वर्ष में टाइटन कंपनी के लेखा परीक्षित वित्तीय नतीजे देखें