मार्च 20, 2017

टाइटन कंपनी ने 11 मिलियन की अपनी वर्तमान वार्षिक बिक्री को बढ़ाने व बढ़ते निष्ठावान ग्राहक आधार की सहायता के लिए आईबीएम क्लाउड तथा वाटसन कस्टमर एंगेजमेंट को अपनाया

$2 बिलियन का यह रिटेलर अपने 1,500 स्टोर स्थलों और ऑनलाइन बिक्री को बढ़ाने के लिए उपभोक्ताओं के अनुभव को निजीकृत करेगा

लास वेगास: आईबीएम (एनवाईएसई: आईबीएम) ने आज घोषणा की कि भारत की अग्रणी घड़ी तथा अन्य बेहतरीन निजी एसेससरीज की अग्रणी विनिर्माता टाइटन कंपनी ने अपने 11 मिलियन निष्ठावान ग्राहक आधार से अपनी वार्षिक बिक्री बढ़ाने के साथ टाइटन की विशिष्ट उत्पाद श्रंखला के लिए नए ग्राहक आकर्षित करने के लिए आईबीएम वाटसन कस्टमर एंगेजमेंट और क्लाउड आधारित समाधानों का उपयोग कर रही है।

बेंगालुरू, भारत में स्थित एक बहु-श्रेणी, बहु-ब्रांड वैश्विक लाइफस्टाइल उत्पाद विनिर्माता, टाइटन ने जबरदस्त अवसर को पहचाना है – भारतीय ई-कॉमर्स बाजार, दो दशकों में यूएस को पीछे छोड़ते हुए दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बाजार बनने के लिए तैयार है। (1) नए ऑनलाइन प्रतियोगियों को रोकने के साथ सफलता हासिल करने के लिए, टाइटन का लक्ष्य अपने 1500 ब्रिक व मोटर स्टोरों फिर से ऊर्जित करना, ऑनलाइन उपस्थिति बढ़ाना और वर्तमान उपभोक्ताओं को अधिक बार बिक्री देने हेतु प्रेरित करना और साथ ही ब्रांड के साथ नए ग्राहकों को जोड़ना है। वास्तव में भारत की तेज आर्थिक प्रगति और बढ़ती घरेलू आय 2020 तक बढ़ कर $3.6 ट्रिलियन होने की आशा है(2) – जो टाइटन के लिए नए अपसरों को खोलने में सहायक हो सकती है।

इस समय टाइटम अपने ऑनलाइन प्लेटफार्म के आदार के रूप में आईबीएम के वॉटसन कस्टमर इंगेजमेंट समाधान का लाभ ले रही है, जिससे कंपनी ग्राहकों के लिए विशिष्ट अभियानों के निर्माण में सक्षम होती है – जिनके लिए यह ना केवल वरीयताएं औप पिछली खरीदों (उन्होने पहले क्या खरीदा और किस डील ने उनको प्रेरित किया) का ध्यान रखती है बल्कि उनके रियल टाइम व्यवहार (अर्थात वे अधिकांशतः किस प्रकार के आइटम देखते हैं, किन चैनलों से खरीदते हैं, कार्ट क्यों निर्सत की गयी आदि) के परीक्षण के लिए एनालिटिक्स का उपयोग करती है, इसलिए अभियानों को खरीदारी हासिल करने के लिए चलते-चलते बदलने में सक्षम किया जा सकता है।

उदाहरण के लिए टाइटन अपने उन ग्राहकों को पहचान सकती है जिनकी पहले की घड़ी की खरीदारियां पहले की समकालीन फैशन संवेदनशीलताओं का संकेत दे सकती हैं और इन ग्राहकों के लिए समकालीन ज्वेलरी डिजाइन पेश कर सकती है। वे पिछले व्यवहार के आदार पर ना केवल छूट की मात्रा बल्कि इसे कहां पर (जैसे ईमेल, मोबाइल आदि) भेजा जाए, इसे भी अनुकूलनित कर सकते हैं। इसके बाद, जैसे-जैसे ग्राहक साइट को देखता है, रिटेलर उनका ध्यान देखते हुए उन आइटमों को पहचान कर उनके लिए डील पेश कर सकता है।

“भारत दुनिया का सबसे बड़ा डिजिटल स्थल बनेन को तैयार है, जो निष्ठावान ग्राहक आधार को बढ़ाने के लिए उत्सुक रिटेलरों के बीच प्रतिस्पर्धा के स्तरों को पेश करेगा,” हैरिएट ग्रीन, महाप्रबंधक, आईबीएम वॉटसन कस्चमर इंगेजमेंट ने कहा। “आईबीएम वॉटसन कस्चमर इंगेजमेंट प्रस्तावों के माध्यम से आईबीएम ना केवल टाइटन को अपने ग्राहकों के साथ इन्गेजमेंट की क्षमताएं प्रदान कर रहा है बल्कि हम उनको संज्ञानात्मकता के मार्ग पर भी सहायता कर रहे हैं – जहां टाइटन अतिरिक्त वॉटसन-शक्तिवर्धक समाधानों को पेश कर सकती है जो उनको आने वाले वर्षों में गति हासिल करने में सहयाता करेगा।”

आईबीएम के साथ अपने काम के माध्यम से टाइटिन का लक्ष्य अपने वर्तमान ग्राहक आधार को ऊर्जा देना है, जो ब्राउज़र के माध्यम से या मोबाइल या टाइटन स्टोर के माध्यम से औसतन साल में 1.5 बार खरीदारी करते हैं और उनको साल में तीन बार खरीदारी के लिए प्रेरित करना है। टाइटन का लक्ष्य आईबीएम के प्लेटफार्म का उपयोग करते हुए अपने ब्रांड की वेबसाइट के साथ-साथ भारत में स्थित 1500 रिटेल स्टोरों और 10,000 बहु-ब्रांड दुकानों पर विजिटरों को लाना है। इन स्टोर स्थलों में बिक्री एसोसिएट्स के पास मोबाइल ऐप्स होंगे जो उनको प्रत्येक शॉपर (पिछली खरीदारियों से लेकर स्टाइल वरीयताओं तथा अन्य) पर विवरण प्रदान करेंगे, जिससे कि वे अत्यधिक अनुकूलित व निजीकृत संबंध बनाए रख सकें।

 “ई-कॉमर्स की लगातार प्रगति हमारे व्यवसाय के लिए महत्वपूर्ण नए राजस्व को हासिल करते हुए हमारे ग्राहकों की विशिष्ट जरूरतों को बेहतर रूप से पूरा करने के लिए टाइटन के लिए जबरदस्त अवसर पैदा करती है। हमारी सफलता को सुनिश्चित करने में आईबीएम महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी,” कुरुविलामार्कोस, चीफ डिजिटल ऑफिसर, टाइटन कंपनी ने कहा। “आईबीएम के साथ काम करते हुए, हम अपने सभी ऑनलाइन व स्टोरों में ग्राहक बातचीतों को अनुकूलित करने में, खरीदारों के लिए ऐसे नए प्रासंगिक उत्पादों को पेश करने में सक्षम होंगे जो उनमें हमारे उत्पादों के डिजाइन व फ्लेयर का संकेत देंगे बल्कि उनकी विशिष्ट व्यक्तिगत स्टाइल को प्रस्तुत करेंगे। हम अपने स्टोरों के उन संबंधों व गर्मजोशियों को डिजिटल दुनिया में शामिल करना चाहते है जिसके लिए वे प्रसिद्ध हैं, जिससे कि हमारे ग्राहक अधिक बार हम तक आएं,” उन्होने कहा।

डिजिटल मेकओवर के हिस्से के रूप में टाइटन आईबीएम वॉटसन कस्टमर इंगेजमेंट ऑफरिंग के सूट का लाभ ले रही है। आईबीएम वॉटसन कस्टमर इंगेजमेंट, सेवा व हमारे वादे के रूप में संज्ञानात्मक इन्गेजमेंट ऑफरिंग सहित समाधानों के पूर्ण स्पेक्ट्रम को शक्ति प्रदान करता है। आज आईबीएम अकेला ऐसा वेंडर है जो कंपनियों को संज्ञानात्मक प्रौद्योगिकियों को उनके विपणन, कॉमर्स तथा आपूर्ति श्रंखला क्षमताओं में अबाधित रूप से शांल करने में सहायता करता है।

वर्तमान समय में आईबीए दुनिया की 17,000 से अधिक कंपनियों के साथ काम कर रही है जिसमें अमादोरि समूह, अमेरिकन ईगल आउटफिटर्स, बूट्स, एर्म्स, लक्सॉटिका, मूसेजॉ माउंटेनियरिंग, ऑफिस ब्रांड्स, परफार्मेंस बाइसिकिल्स, आरईआई, और श्रेविन विलियम्सशामिल हैं।

स्रोत:
(1) इंडियन एक्सप्रेस: दुनिया के सबसे बड़े ई-कॉमर्स बाजार के रूप में भारत अमरीका को पीछे छोड़ देगा: अध्ययन, 05 दिसम्बर 2016. http://bit.ly/2hcpasa
(2)  इंडिया ब्रांड इक्विटी फाउंडेशन: भारतीय उपभोक्ता बाजार फरवरी 2017 http://bit.ly/1sGQiCn