फरवरी 07, 2017

टाइटन कंपनी ने तीसरी तिमाही में आय में 14.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की

विमुद्रीकरण के कारण उपस्थित कुछ बाधाओं के बावजूद पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में टाइटन कंपनी ने तीसरी तिमाही में आय में 14.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। अच्छे त्यौहार व शादी के मौसम ने रिटेल बिक्री की वृद्धि में योगदान किया। दिसंबर 2016 समाप्त हुई नौ माह की अवधि में आय 7 प्रतिशत बढ़ी। अक्टूबर से दिसंबर 2016 अर्थात तीसरी तिमाही में समग्र आय रु.3,905.22 करोड़ रही, जबकि इसी अवधि में पिछले वर्ष यह आय रु.3,404.52 करोड़ थी। अप्रैल से दिसंबर 2016 की नौ माह की अवधि की आय रु.9371.36 करोड़ रही।

अक्टूबर से दिसंबर 2016, तीसरी तिमाही में कर पूर्व लाभ रु.350.34 करोड़ रहा, जिसमें 21.3 प्रतिशत की प्रभावशाली वृद्धि हासिल हुई। समान अवधि के लिए शुद्ध आय 255.75 करोड़ तथा दिसंबर 2016 में समाप्त हो रही नौ माह की अवधि के लिए शुद्ध आय रु.563.20 करोड़ रही। दिसंबर 2016 में समाप्त हो रही नौ माह की अवधि के लिए कर पूर्व आय 14 प्रतिशत की वृद्धि के साथ रु.771.51 करोड़ दर्ज की गई।

घड़ियों से तीसरी तिमाही की आय रु.508.26 करोड़ थी, जिसमें पिछले वर्ष की तुलना में 5.1 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। दूसरी ओर आभूषण व्यवसाय ने पिछले वर्ष की तुलना में तीसरी तिमाही में 15.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। इस वर्ष की तीसरी तिमाही में आय रु.3,255 करोड़ थी जिसकी तुलना में पिछले वर्ष की आय रु.2,820.27 करोड़ थी। दिसंबर 2016 में समाप्त हो रही नौ माह की अवधि के लिए आभूषण व्यवसाय में 7.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। चश्मों के व्यवसाय में तीसरी तिमाही में रु.90.65 करोड़ की आय के साथ 12.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई। कंपनी के दूसरे व्यवसायों बी2बी व्यवसाय परिशुद्धता इंजीनियरिंग और एसेसरीज़ व्यापार ने तीसरी तिमाही में रु.75.97 करोड़ की आय के साथ 44.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। इन व्यवसायों के लिए नौ माह की अवधि के लिए व्यापार 33.2 प्रतिशत बढ़ कर रु.215.71 करोड़ रहा।

31 दिसंबर 2016 को, टाइटन कंपनी (टीसीएल) की मजबूत रिटेल श्रंखला में 1,333 स्टोर्स शामिल हैं, इसके सभी ब्रांडों के लिए पूरे देश में रिटेल क्षेत्रफल 1.75 लाख वर्ग फीट से अधिक है। दिसंबर 2016 तक की नौ माह की अवधि में कुल 118 स्टोर TCL ब्रांड में जोड़े गए।

भास्कर भट, प्रबंध निदेशक, टाइटन कंपनी ने बताया: "कंपनी के लिए तीसरी तिमाही काफी उत्साहवर्धक रही। विमुद्रीकरण के कारण शुरुआती

झटकों के बावजूद कंपनी ने 14 प्रतिशत से अधिक वृद्धि और पीबीटी में 21 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। उत्सवों का यह मौसम हमारे आभूषणों और घड़ियों के व्यवसाय के लिए बहुत अच्छा रहा। इसलिए लागत नियंत्रण पर अपना फोकस बनाए रखने के साथ नए उत्पाद पेश करके और नेटवर्क विस्तार के माध्यम से हमने मांग निर्माण पर प्रयास करना जारी रखा है।"