अगस्त 28, 2017

टाटा सोशल इंटर्नशिप 2017 ने भारत में 15 अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों की मेहमान नवाज़ी की

  • टाटा कंपनियों की स्थिरता परियोजनाओं के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों को भारत में जमीनी स्तर का
  • एक्सपोज़र प्रदान किया गया – कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय, बर्कले, यूएसए; कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय, डेविस, यूएसए; मेसाचुएट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, यूएसए; लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स और पॉलिटिकल साइंस, यूके; और कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय, यूके – जैसे अग्रणी विश्वविद्यालयों के विद्यार्थियों ने इसमें भाग लिया
  • 2008 में शुरु की गयी, टाटा सोशल इंटर्नशिप ने अब तक 160 विद्यर्थियों की मेजबानी की है

मुंबई: टाटा सोशल इंटर्नशिप कार्यक्रम, सामुदायिक विकास तथा स्थिरता के क्षेत्रों में विश्व के कुछ बेहतरीन विश्वविद्यालयों के विद्यार्थियों को विशिष्ट सीख अनुभव प्रदान करता है।

इस साल टाटा सोशल इंटर्नशिप का 10वां संस्करण 15 अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों के दल के साथ समाप्त हुआ – इनमें चार कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय, बर्कले, यूएसए; दो कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय, डेविस, यूएसए; एक मेसाच्युएट्स इंस्टीट्यूट ञफ टेक्नोलॉजी, यूएसए; छः लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स व पॉलिटिकल साइंस, यूके; और दो कैंब्रिज विश्वविद्यालय यूके से थे – जिन्होने भारत में टाटा कंपनियों में चल रही स्थिरता परियोजनाओं में अपनी दो माह की प्रयोगात्मक इंटर्नशिप पूरी की

2017 के बैच ने दो महीनों की अवधि के लिए टाटा कंपनियों के समूह तथा टाटा स्टील, टाटा केमिकल्स, टाटा कम्युनिकेशन्स, ताज, टाटा कैपिटल, ट्रेन्ट, टाटा कॉफी, टाटा मेडिकल सेंटर तथा टाटा ट्रस्ट्स जैसी इकाइयों के साथ प्रत्यक्ष रूप से सामुदायिक पहलों पर काम किया। उनके प्रोजेक्ट्स के क्षेत्रों में टाटा कंपनियों में स्थिरता कार्यक्रमों के प्रभाव मूल्यांकन से लेकर अस्पतालों में संक्रमण प्रबंधन पर स्वास्थ्य अर्थशास्त्र के बारे में अध्ययन, वित्तीय साक्षरता प्रोग्रामों तथा जीवन कौशल प्रशिक्षण के मूल्यांकन, ‘आदर्श गांव’ का प्रक्रिया दस्तावेजीकरण, बुनियादी स्वास्थ्य सेवा जागरूकता और कंपनी की सीएसआर रणनीति को उसकी व्यवसायम रणनीति के साथ संरेखित करना शामिल है।

टाटा सोशल इंटर्नशिप 2017 के कार्यक्रम की संरचना ने इंटर्न्स को भारत का जमीनी स्तर का एक्सपोजर प्रदान किया तथा साथ ही अंतरराष्ट्रीय समझ को बढ़ावा देने के लिए टाटा कंपनियों की इन परियोजनाओं में अंतरराष्ट्रीय दृष्टिकोण व अभ्यासों को शामिल किया।

टाटा प्रतिनिधियों के साथ अपने शैक्षिक संस्थानों द्वारा चयनित ये आगंतुक इंटर्न्स, विकासात्मक अध्ययनों, राजनीतिक अर्थशास्त्र, पर्यावरणीय अर्थशास्त्र, शांति तथा संघर्ष अध्ययन, सार्वजनिक नीति, माइक्रोबायोलॉजी, अर्थशास्त्र, लेखांकन, दर्शन शास्त्र तथा इंजीनियरिंग जैसी विविधतापूर्ण अकादमिक पृष्ठभूमियों से आए थे।

इस इंटर्नशिप कार्यक्रम का पहला चरण 29 मई 2017 को कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय, बर्कले तथा एमआईटी के विद्यार्थियों के साथ शुरु हुआ। इस इंटर्नशिप कार्यक्रम का दूसरा चरण 27 जून 2017 को कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय, डेविस तथा लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स के विद्यार्थियों के साथ शुरु हुआ।

ताज होटल्स रिसॉर्ट्स तथा पैलेसेस, मुंबई के साथ इंटर्नशिप करने वाली कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय से बीए राजनीति शास्त्र की विद्यार्थी मार्गॉक्स पाइटन ने उस आजीविका कार्यक्रम को बेहतर करने के लिए एक मैनुअल विकसित करने की दिशा में काम किया जिसे ताज होटल्स करता है, जिससे कि वे पारंपरिक कलाओं, प्रदर्शनों तथा हस्कशिल्प को भारत में बढ़ावा दे सकें। अपने अनुभव के बारे में बताते हुए सुश्री पाइटन ने कहा, “ताज होटल्स रिसॉर्ट्स तथा पैलेसेस के साथ इंटर्न के इस प्रतिष्ठित अवसर को हासिल करना एक विशेष अवसर था। इस इंटर्नशिप के दौरान, मैने महसूस किया कि बड़े कारपोरेशंस को स्थानीय समुदायों तथा छोटे व्यवसायों को समर्थन देने के लिए मिलनसार और खुले दिमाग का होना चाहिए। ताज के मामले में स्थानीय कलाकारों, हस्तशिल्पियों तथा प्रदर्शकर्ताओं को उनकी संपत्ति पर प्लेटफार्म प्रदान करके वे ना केवल पारंपरिक व्यवसायों को संरक्षित कर रहे हैं बल्कि उनके लिए टिकाऊ तथा कौशल आधारित आजीविका भी सुनिश्चित कर रहे हैं। मेरा विश्वास है कि अंतरराष्ट्रीय कंपनियों को ताज के नैतिक तथा टिकाऊ व्यवसाय अभ्यासों को अपनाना चाहिए, विशेष रूप से वैश्वीकरण और कलाकारों पर इसके प्रभाव की की पृष्ठभूमि में”।

लंदन स्कूल ऑफ इकोनामिक्स से दर्शन शास्त्र तथा अर्थशास्त्र में बीएससी कर रहे एलेक्जेन्डर ग्रे ने टाटा कैपिटल में ठाणे में अपनी इंटर्नशिप की, जहां पर उनका प्रोजेक्ट, टाटा कैपिटल के वित्तीय साक्षरता प्रोग्राम ध्यान ज्ञान – का मूल्यांकन करना था। “टाटा सोशल इंटर्नसिप पर मेरे अनुभव ने मुझे प्रत्यक्ष रूप से यह देखने का अवसर दिया कि कंपनिया किस तरह से लोगों के जीवन को बेहतरी के लिए प्रभावित कर सकती हैं। इसने भारत के भीतर व्यापक भिन्नताओं को समझने के साथ-साथ देश में जबरदस्त संभावनाओं व मौजूदा क्षमताओं को समझने में मुझे सहायता प्रदान की है। मैं कुले दिमाग से इन निजी सीखों को यूके वापस ले जाने के लिए उत्सुक हूँ,” श्री ग्रे ने कहा।

इस प्रोग्राम के एक हिस्से के रूप में, मुंबई में दो बिल्डिंग ब्रिजेस एक्रॉस बाउंड्रीज़ सेमीनार के आयोजन किए गए। पहला सेमीनार यूसी बर्कले, एमआईटी तथा टाटा सामाजिक विज्ञान संस्थान के विद्यार्थियों के साथ 28 जुलाई 2017 को तथा दूसरा 24 अगस्त 2017 को एलएसई, कैम्ब्रिज तथा यूसी डेविस के विद्यार्थियों और एसपी जैन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट & रिसर्च के डवलप्मेंट ऑफ कारपोरेट सिटिजनशिप सेंटर के विद्यार्थियों के साथ आयोजित हुआ, जिसमें उन्होने सामुदायिक विकास पर अपने अनुभव साझा किए और सचेत पूंजीवाद पर चर्चा की।

टाटा सर्विसेस के कारपोरेट मामलों के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अतुल अग्रवाल ने कहा, “सामुदायिक प्रोजेक्ट्स के विविधतापूर्ण समूह से अनावरण के साथ टाटा सोशल इंटर्नशिप एक ऐसा प्लेटफार्म है जो अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों को जमीनी स्तर पर भारत का अनुभव लेने का विशिष्ट अवसर प्रदान करता है। टाटा समूह के सामुदायिक विकास तथा टिकाऊपने पर मजबूत फोकस को देखते हुए, ये विद्यार्थी अपने साथ टिकाऊ व्यवसायिक अभ्यासों पर ज्ञान के भंडार को घर लेकर जाएंगे”।

पुनीत काला, प्रोग्राम निदेशक, साउथ एशिया स्टडीज़, यूनीवर्सिटी ऑफ कैलीफोर्निया ने कहा, “इस संस्थान को टाटा संस के इस बेहतरीन प्रोग्राम के साथ साझीदारी के 10 बरस पूरे करने पर बेहद प्रसन्नता है। अभी तक, यूसी बर्कले, यूसी सांता क्रूज, यूसी डेविस से 70 से अधिक विद्यार्थियों ने टाटा इंटर्न के रूप में बारत में काम करने का लाभ सम्मान हासिल किया है। इस प्रोग्राम ने उनको स्वास्थ्य, शिक्षा, बुनियादी-ढ़ांचे तथा अन्य चीजों में अग्रणी ग्रामीण तथा शहरी विकास कार्यक्रमों की डिजाइन, शोध तथा कार्यान्वयन के असीमित अवसर प्रदान किए हैं। यह इंटर्नशिप लाभकारी व समृद्धशील रही है और हमारे विद्यार्थियों के पास उनकी इंटर्नशिप अनुभवों, उनके कार्यस्थलों के साथ-साथ उनके टाटा सहकर्मियों के बारे में सकारात्मक बातें हैं। कुछ के लिए, यह अनुभव इतना बुनियादी रहा है कि इसने उनके अकादमिक कैरियर की दिशा ही बदल दी है। इस उपलब्धि को हासिल करने पर बधाई, टाटा टीम! हम आपके साथ इस प्रोग्राम को आने वाले कई बरसों तक जारी रखने के लिए उत्सुक हैं”।

अपनी इंटर्नशिप के दौरान इन विद्यार्थियों ने भारत में उनके अनुभव पर एक ऑनलाइन निबंध प्रतिस्पर्धा में भाग लिया (इन निबंधों को http://www.tatasocial-in.com/tata-ises-experience पर देखा जा सकता है)। एक अलग ही प्रकार के कॉर्पोरेट संधारणीयता इन्टर्नशिप प्रोग्राम, टाटा सोशल इन्टर्नशिप की शुरूआत 2008 में की गई थी।