नवम्बर 29, 2017

टाटा पावर अपने समुदायों में प्रधानमंत्री की उज्जवला योजना के प्रति जागरुकता बढ़ाने में सहायता करते हैं

लगभग 130 परिवारों को इस प्रयास से लाभान्वित किया गया

धेरंद, अलीबाग: टाटा पावर, भारत की सबसे बड़ी एकीकृत पावर कंपनी, अपने समुदायों के समग्र विकास में सहायता के लिए अग्रणी भूमिका निभाती रही है। अपनी इसी नीति के अनुसार, टाटा पावर कम्युनिटी डेवलपमेंट ट्रस्ट इन इंडिया (TPCDT), मुंबई ने बीपीएल परिवार के सदस्यों के स्वयं सहायता समूहों (SHG) में प्रधानमंत्री की उज्जवला योजना के प्रति जागरुकता बढ़ाने के लिए कई सेवाओं को सहायता प्रदान की है। इस प्रयास का उद्देश्य था जागरुकता में वृद्धि करना तथा सदस्यों को गैस सिलिंडर की तरफ अकृष्ट कराना, जिससे समुदाय के लगभग 130 परिवारों को लाभ मिला।

इस लाभकारी योजना में नामांकित एसएचजी सदस्यों को गैस स्टोव के लिए सहायता मिलेगी तथा प्रतिवर्ष 12 सिलिंडर की दर से जीवनभर के लिए गैस सिलिंडर की सहायता प्राप्त होगी। इस योजना के लागू होने से समाज के लोगों के रहन-सहन पर काफी ज्यादा प्रभाव पड़ेगा। भोजन पकाने में गैस सिलिंडर को अपनाने से परिवार की महिला सदस्यों के स्वास्थ्य पर अच्छा प्रभाव पड़ेगा। इसके अलावा, TPCDT की टीम यह सुनिश्चित करती है कि इस योजना को इलाके में प्रभावी रूप से लागू किया जाए और जरूरतमंद परिवारों को सही ढंग से नामांकित किया जाए। आज की तारीख तक, समाज के 130 परिवारों के 550 से ज्यादा सदस्यों को इस योजना का लाभ पहुंचाया गया है।

इस प्रयास के बारे में बताते हुए, टाटा पावर के कार्यकारी निदेशक तथा सीओओ, अशोक सेठी ने कहा, “टाटा पावर में हम, अपने समुदायों के जीवनस्तर को उन्नत बनाने के लिए कृतसंकल्पित हैं। बीपीएल परिवारों के एसएचजी सदस्यों को उज्ज्वला योजना से जोड़ने के इस प्रयास से उनके उत्थान और विकास के प्रति हमारी प्रतिबद्धता और अधिक मजबूत होती है। गैस सिलिंडर के उपयोग से समाज की महिलाओं में स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को कम करने में सहायता मिलेगी। हम इस योजना को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए अपने सहयोगियों तथा TPCDT के स्वयंसेवकों के प्रति कृतज्ञ हैं तथा और अधिक विकास के लिए समाज के साथ मिलकर काम करने की आशा करते हैं।”

इस अभियान में नामांकित होने वाले एसएचजी सदस्यों को दस्तावेज भरने की प्रक्रिया में TPCDT के सुप्रशिक्षित सदस्यों ने जरूरी सहयोग किया। टीम ने परिवार के सदस्यों को सरकारी विभागों से जुड़ने तथा इस योजना के तहत नामांकन में भी आवश्यक सहायता प्रदान की, जिसका उद्देश्य था समुदाय को अधिक ऊर्जा सक्षम बनाना तथा स्वास्थ्य तथा जीवनस्तर को सुधारना।