अगस्त 08, 2017

वित्तीय वर्ष 2018 की पहली तिमाही के लिए टाटा केमिकल्स का पीएटी रु.178 करोड़

टाटा केमिकल्स समूह (‘कंपनी’) ने आज 30 जून 2017 को समाप्त हुई पहली तिमाही के लिए अपने समेकित वित्तीय परिणामों की घोषणा की। कंपनी ने आज 30 जून 2017 को समाप्त हुई तिमाही के लिए परिचालन से हुई रु.2,649 करोड़ की समेकित आधार पर आय तथा स्टैन्डअलोन आधार पर रु.178 करोड़ की पीएटी की घोषणा की।

स्टैन्डअलोन वित्तीय वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही

  • मीठापुर संयंत्र ने अच्छे प्रदर्शन को जारी रखा
  • नियोजित ऊर्जा स्तरों पर बबराला से स्थिर उत्पादन
  • उपभोक्ता उत्पाद यूनिट में बाजार उधारी में 27 प्रतिशत की कमी आयी। (मार्च 2017 में रु.82.73 करोड़ की तुलना में जून 2017 में रु.60.59 करोड़)
  • सब्सिडी अधिशेष – रु.1,101 करोड़ (मार्च 2017 – रु.1,684 करोड़)
  • जीएसटी की दिशा में सहज संचरण। प्रोजेक्ट निष्पादन योजना के अनुसार

वित्तीय वर्ष 2017-18 चौथी तिमाही समेकित

  • पहली तिमाही में टीसीएनए ने सतत प्रदर्शन बनाए रखा। पिछले साल की चौथी तिमाही की तुलना में सोडा ऐश उत्पादन 1.6 प्रतिशत अधिक रहा। लागत नियंत्रण व सुरक्षित, कार्यकुशल प्लांट ऑपरेशन्स पर फोकस जारी रहा।
  • पिछले साल की तुलना में इस तिमाही में यूके ऑपरेशंस ने अच्छी बिक्री वृद्धि देखी, जो लॉस्टॉक में लगी आग से सोडा ऐश की उत्पादन हानि से बराबर हो गया।
  • पहली तिमाही में मगाडी में बाजार मांग बढ़ी देखी गयी है। गुणवत्ता और उत्पादन कार्यकुशलता बेहतर करने पर फोकस
  • रैलीस ने बेहतर मेटाहेलिक्स प्रदर्शन के साथ स्थिर प्रदर्शन को बनाए रखा
  • पिछले साल में रैलीस जमीन बिक्री से हुई रु30 करोड़ की आय शामिल है

व्यापार-वार प्रदर्शन

लिविंग एसेंशियल्स

  • उपभोक्ता व्यापार में श्रेणियों में बढ़ते वॉल्यूम तथा बाजार हिस्सेदारी को बेहतर करने पर फोकस जारी रहा
  • टाटा नमक का अभियान – सेहत की चुस्की ने क्यूरियस क्रिएटिव अवार्ड्स 2017 में ‘बेबी ऐलीफैंट ट्रॉफी’ जीती। टाटा नमक ने मार्केटिंग तथा ब्रांड संचार अभ्यास क्लास में फॉक्सग्लव अवार्ड्स में तीन सिल्वर पुरस्कार भी जीते
  • सक्रिय स्वास्थ्य प्रबंधन की अपनी फिलासफी के अनुरूप टाटा साल्ट लाइट भारत की सबसे बड़ी महिलाओं की दौड़ ‘पिकॉथन’ – से जुड़ा था। चेन्नई में 8000 महिलाओं ने इस दौड़ में हिस्सा लिया

उद्योग के लिए जरूरी उत्पाद

  • भारतीय रासायनिक व्यापार – पिछले साल की तुलना में उत्पादन व बिक्री सपाट रहे
  • उत्तर अमरीकी ऑपरेशंस ने प्लांट विश्वसनीयता और ऑपरेटिंग मार्जिन और आउटपुट बोहतर करने पर फोकस करना जारी रखा। पिछले साल की चौथी तिमाही के सापेक्ष 1.6 प्रतिशत अधिक रही
  • यूरोपीय ऑपरेशंस - सभी क्षेत्रों में अपेक्षाओं के अनुरूप होने के कारण पहली तिमाही में आम मांग स्थिर रही है
  • मगाडी – चीन में क्षमता में कमी के कारण सोडा ऐश के लिए मांग अनुकूल रही

खेती के लिए जरूरी उत्पाद

  • बबराला में नियोजित ऊर्दा स्तरों पर स्थिर उत्पादन, हल्दिया प्लांट ने 7 जुलाई से ऑपरेशंस फिर से शुरु किए
  • डिजिटल प्लेटफार्म – दृष्टि पूरे भारत में लॉन्च की गयी। खरीफ मौसम में तीन फसलों – कॉटन, धान और टमाटर के लिए योजना जारी

कार्यकारी टिप्पणी

आर. मुकुंदन, प्रबंध निदेशक व सीईओ, टाटा केमिकल्स ने कहा, “समीक्षित तिमाही में वैश्विक रसायन व्यापार में अच्छा प्रदर्शन दिखा है। ऑपरेशन प्रदर्शन तथा लागत कार्यकुशलता के सुधार पर हमारे स्थिर फोकस ने लॉकस्टॉक में आग लगने के बावजूद मार्जिन वृद्धि को सुनिश्चित किया।

“खेती के व्यापार में रैलीज इंडिया तथा मेटाहेलिक्स ने उच्चतर बिक्री व मार्जिन हासिल करने पर फोकस जारी रखा है। अमोनिया पाइपलाइन के नियोजित बदलाव और सीपीसीबी से नोटिस के कारण हल्दिया में पहली तिमाही में ऑपरेशंस का अस्थायी निलंबन था। अब प्लांट ऑपरेशंस पुनः शुरु हो गया है और हमारा फोकस वहां पर प्लांट ऑपरेशंस स्थिर करने पर है।

“उपभोक्ता उत्पाद व्यापार ने बढ़ना जारी रखा है और टाटा नमक ने अपनी बाजार लीडर की स्थिति को बनाए रखा है। आगे बढ़ते हुए हम अपने सारे व्यवसाय में ग्राहक तथा उत्तरदायित्व व प्रदर्शन पर जोर के साथ परिचालन उत्कृष्टता को प्रदान करने पर अपना फोकस रखना जारी रखेंगे।

“उपभोक्ता व्यापार और विशेषज्ञता व्यापार को बढ़ाते जाने की हमारी रणनीति सही रास्ते पर है जिसमें न्यूट्रास्युटिकल्स तथा सिलिका प्रोजेक्ट में निवेश शामिल हैं।”