मई 26, 2017

वित्तीय वर्ष 16-17 के लिए टाटा केमिकल्स द्वारा अपने परिचालनों से अर्जित समेकित आय की घोषणा; पीएटी की सालाना 29 प्रतिशत की दर से वृद्धि

टाटा केमिकल्स (’कंपनी’) ने 31 मार्च 2017 को समाप्त हुई चौथी तिमाही की अपने समेकित वित्तीय परिणामों की आज घोषणा की। कंपनी ने 31 मार्च 2017 को समाप्त हुई चौथी तिमाही में अपने परिचालनों से प्राप्त रु.3,002 करोड़ के समेकित आय तथा समेकित पीएटी के रु.311करोड़ होने की घोषणा की जिसमें सालाना स्तर पर 54 प्रतिशत की वृद्धि हुई। कंपनी ने के अब तक के सबसे ऊंची पीएटी रु.993 करोड़ (FY17) की जानकारी दी, जो FY16 की तुलना में 29 अधिक है।

एकल Q4 FY16-17

  • सोडा एश और नमक व्यवसाय में सतत परिचालनीय निष्पादन
  • भारतीय रसायन व्यवसाय ने बेहतर अधिप्राप्ति (रिअलाइजेशन) और उच्च बिक्री परिमाण देखे
  • उपभोक्ता उत्पाद व्यवसाय को उच्च बिक्री अधिप्राप्ति हुई, जो दालों में निम्न बिक्री परिमाणों की वजह से आंशिक रूप से ऑफसेट हुआ। विभेदन लाने के लिए चलए गए सफल शुद्धता अभियान के कारण टाटा साल्ट की बाजार हिस्सेदारी में इजाफा हुआ।
  • निम्न स्थायी लागत और इनपुट ने फॉस्फेट के व्यवसाय में सुधार दर्शाया।
  • अनुदान बकाया रु.1,684 करोड़
  • सकल उन्नत कार्यशील पूंजी प्रबंधनt

समेकित Q4 FY16-17

  • उत्तर अमेरिकी परिचालनों ने निम्न उत्पादन के बावजूद सतत निष्पादन जारी रखा जो रखरखाव कटौती तथा व्योमिंग में भारी ठंड जो कि 1962 के बाद तापमान में सर्वाधिक गिरावट थी, से प्रभावित हुआ
  • यूके परिचालनों ने अपने निष्पादन में सुधार जारी रखे। सोडा एश, बाइकार्बोनेट और नमक के लिए उत्पादन परिमाण बजट से ऊपर। नमक और सोडियम बाइकार्बोनेट के बिक्री परिमाण में मजबूती
  • उन्नत क्वालिटी और दक्षता पर बल देने से
  • रैलिस इंडिया और मेटाहेलिक्स की बिक्री में तेजी रही जिसे बेहतर परिचालन मार्जिन हासिल हुआ

व्यवसाय-वार निष्पादन

लिविंग एसेंशियल्स

  • नेशनल ब्रांड सेग्मेंट में टाटा साल्ट अभी भी बाजार अग्रणी हैं
  • ग्राहक से जुड़ने के लिए सफल अभियान चलाया गया जो टाटा साल्ट की शुद्धता पर आधारित था
  • टाटा संपन्न ब्रांड के तहत नए लॉंच किए गए उत्पाद जैसे मसाले और लो ऑयल एब्जॉर्ब ग्राम फ्लोर (बेसन) के प्रति बाजार अनुक्रिया मजबूत रही
  • टाटा साल्ट के नमक वास्ते अभियान को ABBY अवार्ड में सिल्वर हासिल हुआ– ‘बेस्ट मीडिया स्ट्रैटजी’ उपभोक्ता उत्पाद के तहत गोआ फेस्ट 2017 और गोल्ड– एमएडीडीवाय 2017

इडंस्ट्री एसेंशियल्स

  • भारतीय रसायन व्यवसाय ने सतत निष्पादन दर्ज करना जारी रखा है
  • उत्तर अमेरिका परिचालनों ने प्लांट रिलायबिलिटी और उन्नत परिचालन मार्जिन तथा आउटपुट पर ध्यान केंद्रित रखा है
  • यूरोपियन परिचालनों ने लागत नियंत्रण उपायों के बल पर बेहतर निष्पादन जारी रखा है
  • मागदी के निष्पादन में सुधार है, जिससे बेहतर परिणाम मिल रहे हैं

फार्म एसेंशियल्स

  • सामान्य मानसून से कृषि एवं स्वास्थ्य सेवा की मांग में सुधार हुआ
  • हल्दिया में दक्ष परिचालनों एवं बाजार-चालित उत्पाद नीति अपनाने पर बल
  • नियोजित ऊर्जा स्तर पर यूरिया व्यवसाय में सतत उत्पादन

डिविडेंड टाटा केमिकल्स, बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने FY2016-17 के लिए प्रति शेयर 11रु. के इक्विटी डिविडेंड की अनुशंसा की, जो जिसके लिए एजीएम में शेयरहोल्डर के मंजूरी आवश्यक होगी।

एक्जीक्यूटिव टिप्पणी
टाटा केमिकल्स के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ आर मुकुंदन ने कहा, ‘भारतीय परिचालनों के बेहतर निष्पादन के साथ समीक्षाधीन तिमाही उत्साहजनक रही है। परिचालन निष्पादन में सुधार लाने के लिए किए गए हमारे सतत प्रयासों और लागत दक्षताओं ने मर्जिन विस्तार सुनिश्चित किए।

विभिन्न मोर्चों पर आने वाली चुनौतियों के बावजूद, इस साल सभी व्यवसायों और भौगोलिक क्षेत्रों में बढ़िया निष्पादन दर्ज किए गए। व्योमिंग परिचालनों में चौथी तिमाही के दौरान पिछले साल की तुलना में उत्पादन में गिरावट पाई गई, जबकि पूरे साल के लिहाज से उत्पादन में वृद्धि रही।

फार्म व्यवसाय में रैलिस इंडिया और मेटाहेलिक्स ने उच्च बिक्री और मार्जिन जारी रखा।

उपभोक्ता वस्तुओं के व्यवसाय ने संवृद्धि जारी रखी और टाटा साल्ट ने बाजार अग्रणी की अपनी स्थिति कायम रखी है। इस साल टाटा संपन्न स्पाइसेज और लो ऑयल एब्जॉर्ब बेसन उतार गए।

आगे बढ़ते हुए, हम अपने व्यवसाय में ऑपरेशनल एक्सीलेंस और उपभोक्ता उत्पादों तथा स्पेशियलिटी केमिकल्स (एग्रोकेमिकल्स, न्युट्रास्युटिकल्स और एडवांस मटीरियल) चालक संवृद्धि हासिल करना जारी रखेंगे और साथ ही सोडा एश में हमारी अग्रणी स्थिति कायम रही।