नवम्बर 27, 2017

भारत के पहले रूफटॉप सोलर प्लांट दिल्ले में एक कॉरपोर्ट वाणिज्यिक मॉल में चालू किया गया

  • आईटी समाधानों पर शोध तथा विकास के लिए नई शहरी चुनौतियों की पहचान की जानी है
  • स्मार्ट नेशन के लिए कुशाग्र, समेकित, एकीकृत समाधानों पर केंद्रित नवाचार

ऊर्जा-कुशल उपायों के उपयोग का प्रचार-प्रसार करते हुए तथा रूफटॉप सोलर पावर उत्पादन को बढ़ावा देते हुए, सत्येन्द्र कुमार जैन, ऊर्जा मंत्री, एनसीटी दिल्ली सरकार, ने आज, यूनिटी वन, रोहिणी, दिल्ली स्थित कार्पोर्ट वाणिज्यिक मॉल में भारत के प्रथम रूफटॉप सोलर प्लांट का उद्घाटन किया। इस 300 किलोवाट संयंत्र को टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रिब्यूशन (टाटा पावर- DDL) तथा टाटा पावर सोलर द्वारा संयुक्त रूप से कार्यान्वित किया गया है।

एनसीटी दिल्ली सरकार के ऊर्जा मंत्री, सत्येन्द्र कुमार जैन (बाएं से तीसरे); दिल्ली विधानसभा सदस्य, मोहिंदर गोयल (बाएं से दूसरे); यूनिटी समूह के निदेशक, हर्षवर्धन बंसल (बाएं से चौथे); टाटा पावर- डीडीएल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष, सुदर्शन कुमार सैनी (दाएं से दूसरे); टाटा पावर सोलर के रूफटॉप सोलर के प्रमुख, रविंदर सिंह (बिल्कुल दाएं)

अपनी तरह का पहला संयंत्र जिससे वार्षिक 4,20,000 यूनिट स्वच्छ ऊर्जा उत्पादन की उम्मीद है, जिससे इस काम्प्लेक्स की 80 प्रतिशत बिजली जरूरत की आपूर्ति करते हुए इसे ऊर्जा की आपूर्ति की जाएगी, और इसके साथ ही इससे हर वर्ष लगभग 438 मेट्रिक टन (MT) कार्बन उत्सर्जन में कमी आ सकेगी। यह संयंत्र यूनिटी मॉल को वार्षिक रूप से रु. 50 लाख के बिजली बिल की बचत में सहयोग करेगा और अपने पूरे संयंत्र जीवनकाल में रु. 12 करोड़ की बचत करेगा। यह प्रयास दिल्ली के लिए जलवायु परिवर्तन एजेंडा तथा राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन की भावना के अनुरूप है और इसे नेशनल एक्शन प्लान ऑन क्लाइमेट चेंज (NAPCC) के एक अंश के रूप में स्थापित किया गया है।

इस आयोजन में मोहिंदर गोयल, एमएलए, दिल्ली विधानसभा; हर्षवर्धन बंसल, निदेशक, यूनिटी समूह; रविंदर सिंह, रूफटॉप सोलर के प्रमुख, टाटा पावर सोलर; सुदर्शन कुमार सैनी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष, टाटा पावर-डीडीएल, तथा टाटा पावर-डीडीएल, टाटा पावर सोलर तथा यूनिटी मॉल के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों, दिल्ली सरकार के ऊर्जा मंत्रालय, जीआईजेड के अधिकारियों तथा प्रख्यात औद्योगिक हस्तियों की भी गरिमामयी उपस्थिति रही।

टाटा पावर-डीडीएल रूफटॉप सोलर संयंत्रों के सक्रिय प्रचारक रहे हैं और इसके ग्राहकों को इसके बारे में शिक्षित करने के लिए कई कार्याशालाओं का आयोजन भी किया है। इस कंपनी को नई& नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के प्रथम उपयोगिता चैनल सहभागी के रूप में नामांकित किया गया है, और यह देश में पहली कंपनी है जिसे सोलर पीवी परियोजनाओं के लिए समेकित ग्रेडिंग के रूप में दो बार एसपी1ए (जिसे सोलर पावर वन ए कहा जाएगा) की उच्चतम सम्मानित रेटिंग प्राप्त हुई है। यह रेटिंग टाटा पावर-डीडीएल की सोलर पीवी प्रॉजेक्ट्स को मूर्त रूप देने उच्चतम कार्य-प्रदर्शन क्षमता तथा उच्चतम वित्तीय शक्ति का संकेत करती है।

ग्रिड-कनेक्टेड, रूफटॉप-आधारित पीवी पावर प्लांट्स का संचालन टाटा पावर-डीडीएल द्वारा किया जाता है, जिसकी आयु 25 वर्ष की होती है, जहाँ PV पावर का 1KW प्लांट एक वर्ष में 1,400 यूनिट्स बिजली पैदा करेगा। उपभोक्ता तथा संस्थाएं उत्पादित अधिशेष बिजली डिस्कॉम को बेच सकते हैं, और अपनी लागत पांच वर्षों में पुनः प्राप्त कर सकते हैं।

संयंत्र का उद्घाटन करते हुए, श्री जैन, ऊर्जा मंत्री, एनसीटी दिल्ली सरकार, ने राष्ट्रीय राजधानी में सौर ऊर्जा को अपनाने के लिए टाटा पावर-डीडीएल, टाटा पावर सोलर तथा यूनिटी समूह के प्रयासों की सराहना की और अनुकूलित नीति तथा सहयोग के माध्यम से रूफटॉप सोलर पावर का प्रचार-प्रसार करने के प्रति दिल्ली सरकार की प्रतिबद्धता को रेखांकित किया।

इस उद्घाटन के अवसर पर अपनी टिप्पणी में, टाटा पावर-डीडीएल के सीईओ तथा एमडी, प्रवीर सिन्हा ने कहा, “देश में सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने में हम सक्रिय रूप से सहभागी रहे हैं। इस कार्पोर्ट संयंत्र की शुरुआत का उद्देश्य है हमारे वाणिज्यिक उपभोक्ताओं में सौरऊर्जा के स्वीकरण को प्रोत्साहित करना जिनके पास इसके अधिष्ठापन के लिए  विस्तृत रूफटॉप स्थान उपलब्ध है। हम सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए अपने प्रयास तथा राष्ट्रीय सोलर मिशन में योगदान करना जारी रखेंगे, जिसका उद्देश्य भारत को सौर ऊर्जा के क्षेत्र में एक वैश्विक अग्रणी के रूप में स्थापित करना है।”

श्री बंसल, निदेशक, यूनिटी समूह ने कहा, “हम अपने पास उपलब्ध संसाधनों के बेहतर उपयोग में दृढ़ विश्वास रखते हैं। यह मॉल पहले से जल संसाधन का पुनःचक्रण कर रहा है और रूफटॉप संयंत्र से हमें स्वच्छ ऊर्जा द्वारा अपनी ऊर्जा जरूरतों का खासा बड़ा हिस्सा पूरा करने में सहायता मिलेगी। हमें इस प्रयास में टाटा पावर-डीडीएल तथा टाटा पावर सोलर के साथ सहभागिता से प्रसन्नता हो रही है।”

टाटा पावर-डीडीएल को कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है, जिसमें रूफटॉप सोलर कार्यक्रमों के प्रचार-प्रसार के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार भी शामिल है। टाटा पावर-डीडीएल को ऊर्जा-दक्ष सुधार परियोजनाओं के कार्यांवयन के लिए भी कई अवार्ड दिए जाते रहे हैं, जिनमें ऊर्जा प्रबंधन में उत्कृष्टता का राष्ट्रीय अवार्ड भी शामिल है, जो कनफेडरेडरेशन ऑफ इंडियन इंडियन (CII) द्वारा संचालित ऊर्जा बचत प्रयास है।