सितम्बर 09, 2015

टाटा सॉल्ट के 'देश का सलाम, सरहद के नाम' अभियान ने दो गिनीज़ विश्व रिकॉर्ड हासिल किए

  • टाटा सॉल्ट अभियान वास्तविक नायकों का अभिवादन तथा भारतीय सेना को श्रद्धांजलि अर्पित करता है
  • गिनीज़ विश्व रिकॉर्ड ने ‘सबसे तेज इनडोर चिल्लाहट (शाउट)’ तथा ‘पोस्टकार्डों की सबसे लंबी लाइन’ की श्रेणियों के लिए विश्व रिकॉर्ड प्रदान किया
  • भारतीय सशस्त्र सेनाओं के लिए पहले क्राउड सोर्स राष्ट्रगान के लिए लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड भी हासिल किया

दिल्ली: ‘देश का सलाम, सरहद के नाम’ नाम के रिकॉर्ड तोड़ अभियान के माध्यम से भारतीय नमक बाज़ार में अग्रणी, टाटा सॉल्ट ने भारतीय सेना को देश के 69वें स्वतंत्रता दिवस पर हृदयांजलि पेश की। कठोरतम परिस्थितियों में अपने कर्तव्यों को दृढ़ता के साथ पूरा करने वाले सियाचिन के जवानों को समर्पित यह आयोजन राष्ट्र तथा इसके लोगों के लिए निस्वार्थ रूप से सेवा करने वाले वास्तविक नायकों को अभिवादन करने के ब्रांड के सिद्धांत को आगे ले जाता है।

टाटा सॉल्ट की ‘देश का सलाम, सरहद के नाम’ पहल एक 360-डिग्री एकीकृत अभियान थी, जिसने रेडियो, सोशल मीडिया तथा घर से बाहर की गतिविधियों के माध्यम से राष्ट्रव्यापी भागीदारी के लिए आमंत्रण किया था। इस अभियान ने सोशल मीडिया का सफल उपयोग करते हुए नागरिकों की जवानों के प्रति कृतज्ञता तथा सीमा पर उपस्थित जवानों की भावनाओं को पकड़ने के लिए एक दो-मार्गीय संचार महामार्ग को बनाया है। इस अभियान ने ‘सबसे तेज इनडोर चिल्लाहट (शाउट)’ श्रेणी में भीड़ निर्मित 122.2 डेसिबल स्तर पर सबसे अधिक आवाज़ वाले ‘जय हिन्द’ बोलने तथा ‘पोस्टकार्डों की सबसे लंबी लाइन’ श्रेणी में राष्ट्र की ओर से भारतीय सशस्त्र सेनाओं को भेजे गए 6,400 हस्त लिखित संदेशों तथा पोस्टकार्डों की श्रंखला बना कर दो गिनीज़ विश्व रिकॉर्ड बनाए। इसके अलावा 76,310 लोगों की भीड़ द्वारा जवानों के लिए गाए गए राष्ट्रगान को लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपनी तरह की पहली पहल के रूप में स्थान दिया गया।

इस अभियान में उपभोक्ताओं को ‘सैल्यूट सेल्फी’ पोस्ट करने तथा हमारे जवानों की निस्वार्थ सेवा पर उपभोक्ताओं के साथ मेलजोल के लिए प्रोत्साहन हेतु सोशल मीडिया का उपयोग किया गया। टाटा सॉल्ट ने 92.7 बिग एफएम के साथ सहयोग करके, 40 शहरों में बिग पैगाम कहे गए एक हफ्ते तक चले अभियान के माध्यम से श्रोताओं की ओर से संदेश एकत्र किए। अब तक का सबसे पहला लाइव रेडियो स्टेशन, सियाचिन बॉर्डर पर स्थापित किया गया था जिससे कि स्वतंत्रता दिवस समारोहों का लाइव फीड पूरे देश में भेजा जा सके। इसने सैनिकों के परिवारों को राष्ट्र के उन बेटों को संदेश भेजने में सक्षम किया जो दुनिया के साथ शून्य कनेक्टिविटी वाले क्षेत्र में काम कर रहे हैं।

केवल सोशल मीडिया के माध्यम से 5.3 लाख से अधिक उपभोक्ताओं की भागीदारी के साथ, इस अभियान को सैनिकों के लिए संदेशों की भरमार से जबरदस्त सहयोग मिला। ‘देश का सलाम सेल्फी’ प्रतियोगिता को फेसबुक पर 825 सेल्फी पोस्ट मिली जिसमें संजीव कपूर जैसी मशहूर हस्तियों की पोस्ट शामिल थी। इस अभियान के फेसबुक फैन का आधार अपने शुरुआत से लेकर मात्र 9 दिनों में 11,290 तक पहुंच गया, जिससे कुल मिला कर 2,34,714 लाइक, कमेंट तथा शेयर हासिल हुए। इस अभियान ने अकेले फेसबुक पर 32,24,607 तथा ट्विटर पर 3,26,000 इंप्रेशन हासिल किए। अधिक गतिविधियों वाले क्षेत्रों में आउटडोर गतिविधियों के माध्यम से अभियान सिनेमा हालों से 76,310 लोगों तक तथा स्कूलों व कॉलेजों के माध्यम से 1500 विद्यार्थियों तक पहुंचा। इस अभियान के लिए एक विशेष एवी बनाया गया जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और इसने फेसबुक व यूट्यूब पर मात्र दो दिनों में 1,58,300 दृष्य हासिल किए।

स्वतंत्रता दिवस समारोह पर हाथ से लिखे पोस्टकार्डो के साथ जवान
जवानों के लिए राष्ट्र के हार्दिक आभार को जताने के लिए सियाचिन बॉर्डर पर तैनात फौजियों के लिए टाटा सॉल्ट ने सेल्फी, हस्तलिखित संदेश, वीडिया, सोशल मीडिया पोस्टों के माध्यम से सभी हासिल संदेशों का एक मोंटाज बना कर चलाया। फिर से दोहरे संचार को संभव करते हुए, टाटा सॉल्ट ने वीडियो तथा फेसबुक पेज पर पोस्टों को देख कर सैनिकों की उन्मादपूर्ण प्रतिक्रियाओं और प्रशंसा को कैप्चर किया, इस प्रकार से इसे न केवल सैनिकों बल्कि उपभोक्ताओं के लिए भी एक बेहतरीन उत्सव बना डाला।

अभियान के सफल आयोजन पर बोलते हुए, रिचा अरोरा, सीओओ, उपभोक्ता उत्पाद व्यापार, टाटा केमिकल्स ने कहा, “ टाटा सॉल्ट ने नमक के एक पैकेट से ‘देश का नमक’ तक की विकास यात्रा पूरी की है। ‘देश का सलाम’ स्वतंत्रता दिवस अभियान, राष्ट्र को निस्वार्थ भाव से सुरक्षा प्रदान करने वाले सैनिकों को समर्पित है। इस अभियान के माध्यम से हमने बस सरल तरीके से दुनिया की सबसे ऊंचें स्थल - सियाचिन पर काम कर रहे सैनिकों को लाखों लोगों से जोड़ा। न केवल हमारे लिए बल्कि हमारे वास्तविक नायकों के लिए यह प्रतिक्रिया काफी भारी रही।”

लगभग एक दशक से अधिक समय से टाटा सॉल्ट ने 'देश का नमक' की अपनी छवि को भरपूर जिया है और भारत के लोगों के अदम्य विश्वास को हासिल किया है जो अपने दैनिक जीवन के व्यवहार में ईमानदारी, एकनिष्ठा तथा राष्ट्र के प्रति वफादारी को मूल्यवान मानते हैं। इस ब्रांड के मूल्यों के अनुसार ‘देश का नमक’ के लिए यह एक और सफल आयोजन रहा।