फरवरी 10, 2016

टाटा केमिकल्स ने 31 दिसंबर, 2015 को समाप्त हुई तीसरी तिमाही और नौवें माह के लिए समेकित वित्तीय परिणामों की घोषणा की है

टाटा केमिकल्स समूह (टीसीएल)   ने 31 दिसंबर, 2015 को समाप्त हुई तीसरी तिमाही (ति3 विव16) तथा नौवें माह (माह9 विव16) के लिए आज अपने समेकित वित्तीय परिणाम घोषित किए। तिमाही के लिए, समूह ने रु4,637 करोड़ की परिचालन से प्राप्त आय और रु490 करोड़ के ईबीआईटीडीए की घोषणा की। परिचालन से प्राप्त स्टैंडअलोन आय रु2,999 करोड़ रही और 3 प्रतिशत वृद्धि के साथ ईबीआईटीडीए रु284 करोड़ रहा। दिसंबर, 2015 को समाप्त हुए नवें माह के लिए, समूह ने परिचालन से रु13,701 करोड़ की समेकित आय और रु1,637 करोड़ का ईबीआईटीडीए दर्ज किया। परिचालन से प्राप्त स्टैंडअलोन आय रु8,382 करोड़ और ईबीआईटीडीए रु840 करोड़ दर्ज किया गया। 

31 दिसंबर, 2015 को समाप्त हुई तिमाही तथा नवें माह के लिए स्टैंडअलोन परीक्षित वित्तीय परिणाम के विवरणों के सार-संक्षेप
      (रुपए करोड़ में)
विवरण 31 दिसंबर, 2015 को समाप्त तिमाही 31 दिसंबर, 2015 को समाप्त नौवां माह 31 दिसंबर, 2014 को समाप्त तिमाही
परिचालन से प्राप्त कुल आय (निवल) 2998.54 8381.81 3015.69
कर पश्चात शुद्ध लाभ 146.31 483.98 204.55
इक्विटी शेयर पूंजी 254.82 254.82 254.82
रिजर्व (पूर्व वित्त वर्ष की बैलेंस शीट में प्रदर्शित पुनरीक्षित रिजर्व को छोड़कर) 5788.45 5788.45 5446.41
(31 मार्च, 2015 को) (31 मार्च, 2015 को) (31 मार्च, 2015 को)
प्रति शेयर प्राप्तियां (अंकित मूल्य: रु10 प्रति)      
बेसिक (वार्षिकीकृत नहीं) 5.74 19.00 8.03
डायल्यूटेड (वार्षिकीकृत नहीं) 5.74 19.00 8.03

 

31 दिसंबर, 2015 को समाप्त हुई तिमाही तथा नवें माह के लिए समेकित गैर-परीक्षित वित्तीय परिणाम के विवरणों के सार-संक्षेप
      (रुपए करोड़ में)
विवरण 31 दिसंबर, 2015 को समाप्त तिमाही 31 दिसंबर 2015 को समाप्त नौ माह 31 दिसंबर, 2014 को समाप्त तिमाही
परिचालन से प्राप्त कुल आय (निवल) 4637.35 13701.18 4816.86
कर, सहयोगी की हानि अंश और अल्प ब्याज पश्चात कुल लाभ 129.94 537.92 238.12
इक्विटी शेयर पूंजी 254.82 254.82 254.82
रिजर्व (पूर्व वित्त वर्ष की बैलेंस शीट में प्रदर्शित पुनरीक्षित रिजर्व को छोड़कर) 5296.89 5296.89 5310.69
(31 मार्च, 2015 को) (31 मार्च, 2015 को) (31 मार्च, 2015 को)
प्रति शेयर प्राप्तियां (अंकित मूल्य: रु10 प्रति)      
बेसिक (वार्षिकीकृत नहीं) 5.10 21.12 9.35
डायल्यूटेड (वार्षिकीकृत नहीं) 5.10 21.12 9.35
* (पूर्व वित्त वर्ष की बैलेंस शीट में प्रदर्शित पुनरीक्षित रिजर्व को छोड़कर)


प्रमुख कार्यनिष्पादन तथा वित्तीय झलकियां:

स्टैंडअलोन

  • सोडा एश तथा नमक ने भारत में गत वर्ष तक बेहतर प्रदर्शन दिया।
  • ग्राहक पोर्टफोलिओ राजस्व ति3 विव14-15 से 25 प्रतिशत बढ़ा।
  • टाटा संपन्न, खाद्य-उत्पाद पोर्टफोलिओ, अखिल-भारतीय रोल-आउट जारी
  • 31 दिसंबर, 2015 तक रु1,577 करोड़ का अनुदान प्राप्त।

समेकित

  • मागादी ने ति3 विव15-16 में लाभ में सुधार किया है।
  • उत्पादन कटौती और खराब मौसम स्थितियों के कारण अमेरिकी क्षेत्र प्रभावित रहा।
  • भाप टरबाइन शुरू करने के बाद, यूरोपीय परिचालन में मजबूती आई। भावी गैस खरीद, सोडा एश उत्पादन को समर्थन हेतु हेजिंग कॉंन्ट्रैक्ट के बाजार लक्षणों से वित्तीय प्रदर्शन बुरी तरह प्रभावित रहा।
  • खराब मौसमी स्थितियां, कमजोर उपज और मुख्य फसलों की कम कीमत से रैलिस इंडिया का प्रदर्शन प्रभावित हुआ।

व्यवसायवार प्रदर्शन

जीवनोपयोगी उपभोक्ता उत्पाद

  • टीसीएल ने एक अधिक ग्राहक केंद्रित व्यवसाय में स्वयं को परिवर्तित करने के प्रयास जारी रखे हैं।
  • टीसीएल राष्ट्रीय ब्रांडेड नमक सेगमेंट में 66.7  प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ बाजार में अग्रणी है।
  •  टाटा साल्ट को ब्रांड इक्विटी के ‘सर्वाधिक विश्वसनीय ब्रांड’ सर्वेक्षण में द्वितीय रैंक हासिल हुआ।
  • ब्रांडेड दाल विक्रय में गत वर्ष के मुकाबले 54 प्रतिशत वृद्धि हुई।
  • ब्रांडेड मसाले सात राज्यों– दिल्ली, यूपी, एमपी, बिहार, जम्मू तथा कश्मीर, उत्तराखंड और राजस्थान में सफलतापूर्वक पेश किए गए।

औद्योगिक उपभोक्ता उत्पाद

  • सोडा एश बाजार संतुलित रहा।
  • भारतीय रसायन व्यवसाय ने अच्छा प्रदर्शन दर्ज कराया।
  • भाप टरबाइन शुरू करने के बाद, यूरोपीय परिचालन में मजबूती आई। भावी गैस खरीद, सोडा एश उत्पादन को समर्थन हेतु हेजिंग कॉंन्ट्रैक्ट के बाजार लक्षणों से वित्तीय प्रदर्शन बुरी तरह प्रभावित रहा।
  • मागादी परिचालनों ने प्रदर्शन में सुधार दर्ज किया।
  • उत्पादन कटौती और खराब मौसम स्थितियों के कारण अमेरिकी परिचालन प्रभावित रहे।

कृषि उपभोक्ता उत्पाद

  • 31 दिसंबर, 2015 तक रु1,577 करोड़ का अनुदान प्राप्त हुआ।
  • खराब मौसमी स्थितियों, अनुपयुक्त बारिश ने रैलिस इंडिया के प्रदर्शन को प्रभावित किया।