टाटा रियलिटी एंड इनफ्रास्ट्रक्चर

टाटा रियलिटी एंड इनफ्रास्ट्रक्चर (टीआरआईएल) की स्थापना, रीयल इस्टेट तथा मूलभूत ढ़ांचा क्षेत्र में अवसरों की तलाश के उद्देश्य से 2007 में की गई। यह कंपनी टाटा संस के पूर्ण स्वामित्व में एक अनुषंगी, टाटा ग्रुप की एक होल्डिंग कंपनी है, और यह विश्व-स्तरीय रीयल इस्टेट तथा मूलभूत ढांचे के निर्माण के माध्यम से राष्ट्र के विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

व्यापार के क्षेत्र

टाटा रियलिटी एंड इनफ्रास्ट्रक्चर (टीआरआईएल) की स्थापना, रीयल इस्टेट तथा मूलभूत ढ़ांचा क्षेत्र में अवसरों की तलाश के उद्देश्य से 2007 में की गई। यह कंपनी टाटा संस के पूर्ण स्वामित्व में एक अनुषंगी, टाटा ग्रुप की एक होल्डिंग कंपनी है, और यह विश्व-स्तरीय रीयल इस्टेट तथा मूलभूत ढांचे के निर्माण के माध्यम से राष्ट्र के विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

वर्तमान में टीआरआईएल निम्नलिखित के विकास पर ध्यान दे रही है:  

सारे एक्पैंड करें | सारे कोलैप्स करें
रियल इस्टेट-मिश्रित उपयोग

कैपिटोल हाइट्स, नागपुर: नागपुर के मुख्य इलाके में 9 एकड़ मुख्य भूमि में विस्तृत मिश्रित उपयोग प्रॉजेक्ट कैपिटोल हाइट्स अनोखी सुविधाओं के साथ अद्वितीय स्तर की लग्जरी प्रदान करता है। यह 100 प्रतिशत वाहन मुक्त स्थल वाले शहरी ओएसिस के निर्माण हेतु एक अनोखी लैंडस्केपिंग योजना पर गर्व करता है।

टीआरआईएल कॉमर्शियल सेंटर, बेंगलुरु: टीआरआईएल अपने एक फ्लैगशिप प्रॉजेक्ट को विकसित करेगा जो एक समेकित मिश्रित उपयोग वाला विकास परियोजना है जो बेंगलुरु में 17 लाख वर्ग फीट जमीन पर विस्तृत है। यह प्रॉजेक्ट ग्रेड ए के कॉमर्शियल ऑफिस स्पेस, हाई स्ट्रीट रिटेल और प्रीमियम आवासीय अपार्टमेंट का विकास करता है। इस प्रॉजेक्ट पर लगभग 900 करोड़ रु. का निवेश होगा।

आईटी/आईटीईएस

टीआरआईएल आईटी4: पीपल ट्री प्रॉपर्टीज का एक ग्रीन फील्ड आईटी पार्क जिसे टीआरआईएल और टीआरआईएफ रियलिटी प्रॉजेक्ट्स (मॉरीसस) ने 2011 में अधिग्रहीत किया, टीआरआईएल आईटी4 एक पूर्ण विकसित 24x7 सुविधा वाला 780,000 वर्गफीट का लीज योग्य स्पेस है जिसे कोल्ड शेल आधार पर निर्मित किया गया है।

रामानुजन आईटी एसईजेड, चेन्नई: 25.27 एकड़ में फैली रामानुजन आईटी सिटी रणनीतिक रूप से चेन्नई के दक्षिणी बिजनस जिले तारामणी में अवस्थित है जिसे शहर के तेजी से विकसित हो रहे आईटी कॉरीडोर का प्रवेशद्वार माना जाता है। विश्वविख्यात यूएस आर्किटेक्ट एसओएम, स्किडमोर ओइंग्स& मेरिल द्वारा डिजायन किया गया और ऑस्ट्रेलिया के लाइटन द्वारा निर्मित रामानुजन आईटी सिटी का विकास फेजवार तरीके से किया जा रहा है। एलईईडी गोल्ड के दिशानिर्देशों के अनुसार पूर्व-प्रमाणित इस सिटी में एक प्रोफेशनल प्रॉपर्टी तथा फैसिलिटी मैनेजमेंट प्रॉसेस भी है जिसे क्वालिटी मैनेजमेंट सिस्टम्स(ISO 9001 2008), एनवायरनमेंट मैनेजमेंट सिस्टम्स (ISO 14001 2004), ऑक्युपैशनल हेल्थ एन्ड सेफ्टी एसेसमेंट सिरीज (OHSAS18001 2007) एवं एनर्जी मैनेजमेंट सिस्टम्स (ISO 5000 2011) प्रमाणन हासिल है।

रिटेल
ट्रिलियम, अमृतसर: पंजाब के सबसे बड़े मॉल में एक है। प्रॉजेक्ट की स्थापत्य डिजायन अमेरिका के आरटीकेएल द्वारा तैयार की गई है तथा एलईईडी के दिशानिर्देशों के अनुसार बना है और भूकंपरोधी है।
शहरी जीवन
त्रिवम, कोच्ची: कोच्ची के मरीन ड्राइव पर विकसित एक प्रीमियम लग्जरी आवासीय अपार्टमेंट। अंतर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त ऑस्ट्रेलियाई आर्किटेक्ट वूड्स बैगट, कंस्ट्रक्शन पार्टनर लीटॉन वेल्सपन कॉन्ट्रैक्टर्स और दुनिया भर में मशहूर लैंडस्केप डिजायनर मेड विजया द्वारा विकसित त्रिवम को सीएआरई द्वारा 7-स्टार रेटिंग प्रदान की गई है।
कार्यक्रम प्रबंधन

टीसीएस सहयाद्री पार्क, पुणे : टीसीएस के कार्यक्रम प्रबंधक की भूमिका में टीआरआईएल द्वारा सह्याद्री पार्क विकसित किया जा रहा है जो पुणे के हिंजेवाडी स्थित एक बिल्ड-टू-सूट आईटी एसईजेड कैम्पस है। प्रॉजेक्ट का आर्किटेक्चर फ्रैंक ग्लिन द्वारा तैयार किया गया है। यह 48 एकड़ से अधिक क्षेत्रफल में विस्तृत है जिसमें लगभग 23,000 सीटों के लिए 31 लाख वर्गफीट का निर्माण क्षेत्र है। आईजीबीसी गोल्ड रेटिंग एलईईडी प्रमाणन हासिल करने की योजना है।

टीसीएस गरिमापार्क, गांधीनगर : टीसीएस गरिमापार्क अहमदाबाद के गांधीनगर में टीआरआईएल द्वारा विकसित द्वितीय टीसीएस आईटी एसईजेड एक बिल्ड-टू-सूट प्रॉजेक्ट है जो लगभग 10,000 सीटों के लिए 16.5 लाख वर्ग फीट के निर्माण क्षेत्रफल के साथ 25.5 एकड़ के प्लॉट पर अवस्थित है। प्रॉजेक्ट का विकास एलईईडी प्रमाणन के लिए आईजीबीसी गोल्ड रेटिंग के मानकों के अनुसार किया गया है।

टीसीएस राजारहाट, कोलकाता: राजारहाट, कोलकाता में यह एक कार्यक्रम प्रबंधक के रूप में टीआरआईएल द्वारा टीसीएस के लिए विकसित तीसरा आईटी एसईजेड (सेज) बिल्ड-टू-सूट प्रॉजेक्ट है। इस प्रॉजेक्ट की योजना कैनन डिजाइन द्वारा मुख्य आर्किटेक्ट के तौर पर तैयार की गई। इस निर्माण-योजना के अंतर्गत, 16,000 से ज्यादा स्थानों के लिए एक 40 एकड़ भूमि-खंड पर 22.5 लाख वर्गफीट का निर्माण क्षेत्र होगा। इस प्रॉजेक्ट का विकास एलईईडी प्रमाणन हेतु आईजीबीसी गोल्ड रेटिंग मानकों के अनुरूप किया जाएगा।

टीसीएस मिहान, नागपुर: मिहान सेज के एमएडीसी के 52 एकड़ भूमि क्षेत्र में फैला टीसीएस का प्रस्तावित परिसर, टीसीएस का चौथा सेज विकास प्रॉजेक्ट है, जहां टीआरआईएल एक पूर्ण कार्यक्रम प्रबंधक के रूप में संलग्न है। इस प्रॉजेक्ट का डिजाइन जाने-माने आर्किटेक्ट हफीज कॉन्ट्रैक्टर द्वारा तैयार किया गया है, और इसमें 8,900 आईटी तथा बीपीओ परामर्शदाताओं के लिए लगभग 10 लाख वर्गफीट का विकास-क्षेत्र शामिल है। यह प्रॉजेक्ट भी आईजीबीसी गोल्ड रेटिंग के लिए डिजाइन किया गया है।

टीसीएस आईटी परिसर, इंदौर: टीसीएस द्वारा विकसित किए जानेवाले इस पांचवें प्रॉजेक्ट के तहत फेज 1 में लगभग 11 लाख वर्गफीट पर लगभग 10,000 स्थानों का निर्माण किया गया है। इसका परिसर 100 एकड़ खंड में फैला है, और यह मध्य प्रदेश के इंदौर में बिल्ट-टू-सूट आईटी/आईटीईएस परिसर विकास के लिए यह पहला बड़ा प्रॉजेक्ट है। यह प्रॉजेक्ट भारत में 'इंट्रीग्रेटिंग एनर्जी एफिशियंसी कांसेप्ट इन डिजाइन' के लिए स्विस-बीईईपी भागीदारी कार्यक्रम के अंतर्गत कुछ चुने हुए प्रॉजेक्टों में से एक है।

आतिथ्य
टीआरआईएल ने ताज ग्रुप ऑफ होटल्स के साथ, अपने ग्रीनफील्ड प्रॉजेक्ट्स को कार्यक्रम प्रबंधन सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए विकास परामर्श समझौता किया है। इस समझौते के तहत प्रारंभिक प्रॉजेक्ट अमृतसर, नई दिल्ली, बैंगलुरु तथा नासिक में होंगे। इस समझौते के तहत, यह परिकल्पित किया गया है कि टीआरआईएल, इंडियन होटल्स तथा इसकी सहयोगी कंपनियों के ग्रीनफील्ड विकास के लिए डिजाइन तथा निर्माण प्रबंधन हेतु स्वामित्व प्रतिनिधि के तौर पर कार्य करेगा।
पोर्टफोलियो प्रॉजेक्ट्स
टीआरआईएल की किराया-अर्जक परिसंपत्ति विकास की नीति के अनुरूप टीआरआईएल हॉस्पिटैलिटी की योजना हॉस्पिटैलिटी परियोजनाओं की एक पोर्टफोलियो तैयार करने की है। यह पोर्टफोलियो प्रमुख माइक्रो बाजारों के मिड-स्केल से लेकर अप-स्केल के होटल सेग्मेंट तक विस्तृत होगी: विवांता सर्विस्ड अपार्टमेंट्स गुड़गांव; विवांता, हैवलॉक आइलैंड, अन्दमान; और गेटवे श्रीपेरम्बुदुर।
ट्रॉम्बे रिहैबिलिटेशन
टीआरआईएल ट्रॉम्बे स्थित 3.8 एकड़ की पुनर्निर्माण परियोजना के लिए टाटा पावर का सलाहकार और पीएमसी है।
इनफ्रास्ट्रक्चर
हाईवेज, एक्स्प्रेसवेज और सेतु: पुणे-सोलापुर एक्सप्रेसवेज (पीएसईपीएल), टीआरआईएल रोड्स और ऑटोस्ट्रेड इंडियन इनफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के कन्सोर्टियम द्वारा निर्मित एक विशिष्ट उद्देश्य वाला निकाय है जो एनएच-9 के 40.00 से 144.40 किमी के पुणे-सोलापुर खंड के दो लेन से चार लेन में बदलने और साथ ही बायपास निर्माण (कुल 110 किमी लंबाई) की परियोजना का क्रियान्वयन और परिचालन 'डिजायन, बिल्ड, ऑपरेट एन्ड ट्रांसफर' आधार पर कर रहा है।
हवाईअड्डे
टाटा स्टील, टीआरआईएल के साथ मिलकर एक दीर्घकालीन व्यावसायिक परिसंपत्ति के रूप में जमशेदपुर में एक ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट का विकास कर रहा है। टीआरआईएल आने वाले समय में भारत में ग्रीनफील्ड और ब्राउनफील्ड हवाईअड्डों के विकास के लिए अवसरों के मूल्यांकन की प्रक्रिया में है।
विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र
टीआरआईएल उड़ीसा में एक मल्टी-प्रॉडक्ट एसईजेड के विकास के लिए अवसरों के मूल्यांकन की प्रक्रिया में है।

 
रियल इस्टेट प्रॉजेक्ट्स के विकास के लिए टीआरआईएल 75 करोड़ अमेरिकी डॉलर (जिसमें टाटा संस का भी योजदान है) के टाटा रियलिटी इनीशिएटिव्स फंड (टीआरआईएफ-1) नामक एक ऑफशोर फंड का सलाहकार है।

स्थल
कम्पनी, मुंबई, भारत में स्थित है।

यह प्रोफाइल दिसम्बर 05, 2014 को 17:00 भारतीय मानक समय पर अद्यतन किया गया था।
अधिक जानकारी के लिए कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट देखें (वेबसाइट लिंक इस पृष्ठ पर 'संपर्क' अनुभाग में उपलब्ध है)