टाटा पेट्रोडाइन

टाटा पेट्रोडाइन (टीपीएल), को वर्ष 1993 में सूचीबद्ध किया गया था, जो कच्चे तेल तथा प्राकृतिक गैसों की खोज तथा उत्पादन के लिए काम करती है। शुरुआती दौर में इसे टाटा इंडस्ट्रीज द्वारा प्रोमोट किया गया जिसका उद्देश्य था टाटा का तेल तथा गैस उद्योग के क्षेत्र में अपना विस्तार करना। हालांकि आज टीपीएल टाटा संस की 100 फीसदी हिस्सेदारी वाली अनुषंगी कंपनी बन चुकी है।

व्यापार के क्षेत्र

टाटा पेट्रोडाइन भारत सरकार द्वारा आयोजित निविदाओं में कई चरणों में भाग लेती है तथा साथ ही भारतीय तेल तथा गैस ब्लॉक्स में रुचि ले रही है। इन सात ब्लॉकों के ऑपरेटर्स हैं:

  • ब्लॉक CY-OS-90/1के लिए हार्डी एक्सप्लोरेशन एंड प्रॉडक्शन (इंडिया) इंक
  • ब्लॉक CB-OS/2 तथा PR-OSN-2004/1 के लिए केयर्न एनर्जी
  • ब्लॉक्स CB-OS/1, KK-DWN-2004/1, PR-ONN-2005/1 तथा GV-ONN-2005/3 के लिए ओएनजीसी
मार्च 2007 में टीपीएल ने नॉर्थ सी (48 1b/2c) में 25 फीसदी भागीदारी हासिल की, जो इसका पहला अंतर्राष्ट्री उपक्रम है। हाल में 25वें लाइसेंसिंग राउंड में ट्रेडिशनल लाइसेंस के रूप में ब्लॉक 48/1d हासिल हुआ। यह ब्लॉक 48 1b/2c के समीप है।
 
मार्च 2009 में, ऑस्ट्रेनिया में ऑफशोर ब्लॉक AC/P46 हेतु खोज अनुमति मिलने के बाद कंपनी को ऑपरेटर का दर्जा प्राप्त हुआ, जहां यह 100 फीसदी भागीदारी के साथ काम कर रही है।

स्थल

कम्पनी, मुंबई, भारत में स्थित है।

यह प्रोफाइल अप्रैल 25, 2014 को 16:57 भारतीय मानक समय पर अद्यतन किया गया था।
अधिक जानकारी के लिए कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट देखें (वेबसाइट लिंक इस पृष्ठ पर 'संपर्क' अनुभाग में उपलब्ध है)