टाटा मोटर्स

टाटा मोटर्स भारत की सबसे बड़े वाहन निर्माता कंपनी है, जिसका वर्ष 2012-13 में समेकित राजस्व रु.1,88,818 करोड़ (अमेरिकी डॉलर 34.7 बिलियन) रहा। अपनी अनुषंगियों तथा सहायक कंपनियों के माध्यम से टाटा मोटर्स के परिचालन यूके, दक्षिण कोरिया, थाइलैंड, स्पेन, दक्षिण अफ्रीका व इंडोनेशिया में फैले हैं। उनमें से जैगुआर लैंड रोवर भी एक है, जो दो प्रतिष्ठित ब्रिटिश ब्रांड हैं। वर्ष 2005 में फिएट के साथ एक अहम समझौते के बाद इसने फिएट तथा टाटा कारों व फिएट पावरट्रेंस के उत्पादन हेतु फिएट ग्रुप ऑटोमोबाइल्स के साथ एक संयुक्त उपक्रम स्थापित किया।

टाटा मोटर्स देश में व्यापारिक वाहनों की अग्रणी कंपनी हैं तथा यह यात्री वाहनों की तीन शीर्ष कंपनियों में शुमार है। यह दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी ट्रक निर्माता कंपनी तथा चौथी सबसे बड़ी बस निर्माता कंपनी है। टाटा मोटर्स के व्यापारिक तथा यात्री वाहनों का विपणन यूरोप, अफ्रीका, मध्य पूर्व, दक्षिण एशिया, दक्षिण पूर्व एशिया, दक्षिण अमेरिका, सीआइएस तथा रूप में किया जा रहा है। यह कंपनी बांग्लादेश, युक्रेन तथा सेनगल में फ्रेंचाइज/संयुक्त उपक्रम वाले असेम्बली कारोबार में भी शामिल है।

पूर्व में इस कंपनी को टाटा इंजीनियरिंग एंड लोकोमोटिव कंपनी के नाम से जाना जाता था। वर्ष 1954 में इसने जर्मनी के डेम्लर बेंज के साथ एक समझौता करने के बाद इसने व्यापारिक वाहनों का निर्माण आरंभ किया। तब से लेकर आजतक यह कई वाहनों का विकास कर चुका है, जिनमें शामिल हैं- टाटा एस, भारत का पहला देसी हल्का व्यापारिक वाहन; ट्रकों के प्राइमा रेंज, अंतर्राष्ट्रीय मानदंडों वाले लाइट कमर्शियल वेहिकल के अल्ट्रा रेंज, टाटा सफारी, भारत की पहला स्पोर्ट यूटिलिटी वाहन; टाटा इंडिका, भारत की पहली देसी यात्री कार; तथा नैनो, दुनिया की सबसे सस्ती कार।

टाटा मोटर्स के पास 4,500 इंजीनियर, तकनीकी विशेषज्ञ तथा वैज्ञानिक हैं, जो भारत, दक्षिण कोरिया, इटली, स्पेन तथा यूके के इसके आर&डी केंद्रों पर कार्यरत हैं।

व्यापार के क्षेत्र

टाटा मोटर्स यात्री कारों, मल्टी यूटिलिटी वाहनों तथा लाइट, मध्यम तथा भारी व्यापारिक वाहनों का निर्माण करती है।

  • यात्री कार: इस कंपनी ने वर्ष 1998 में कॉम्पैक्ट कार टाटा इंडिया, वर्सह 2002 में सीडैन इंडिगो तथा वर्ष 2004 में स्टेशन वैगन इंडिगो मैरींना लॉन्च की थी।
  • यूटीलिटी वेहिकल: टाटा सूमो को वर्ष 1994 तथा टाटा सफारी को 1998 में बाजार में उतारा गया।
  • व्यापारिक वाहन: इसके व्यापारिक वाहनों में शामिल हैं- हल्के दो टन के ट्रकों से लेकर भारी डम्पर्स तथा मल्टी-ऐक्सल्ड वाहन, जो 40 टन से भी अधिक वजन वाले खंड से आते हैं।
  • यात्री बस: कंपनी ने यात्री बसों, 12 सीटर से लेकर 60 सीटर बसों का निर्माण किया है, जो लाइट, मध्यम तथा भागी सेग्मेंट के वाहन हैं।

संयुक्त उपक्रम, अनुषंगी, सहयोगी कंपनियां

टाटा मोटर्स का ब्राजील स्थित बस तथा कोच बॉडी निर्माता कंपनी मार्कोपोलो के साथ एक संयुक्त उपक्रम (जेवी, 51:49) है। टाटा मोटर्स (एसए) (प्रोप्राइट्री) टाटा मोटर्स की टाटा अफ्रीका होल्डिंग (पीटीवाइ) के साथ एक संयुक्त उपक्रम है; रोजलिन, प्रीटोरिया में स्थित जेवी असेम्बली प्लांट में हल्के, मध्यम तथा भारी व्यापारिक वाहनों को असेम्बल किया जाता है, जो 4-50 टन से लेकर सेमी नॉक्ड डाउन किट तक के रेंज में आते हैं।

अन्य सहयोगियों में शामिल हैं:

  • टाटा दाइवू कमर्शियल वेहिकल कंपनी, जो टाटा मोटर्स की 100-फीसदी अनुषंगी कंपनी है, भारी व्यापारिक वाहनों के निर्माण करती है (www.tata-daewoo.com)।
  • टाटा मोटर्स यूरोपीयन टेक्निकल सेंटर यूके स्थित, एक 100 फीसदी अनुषंगी कंपनी है, जो उत्पादों के डिजाइन इंजीनियरिंग तथा विकास में शामिल है।
  • टेल्को कंस्ट्रक्शन एक्विपमेंट कंपनी भवन निर्माण उपकरण बनाती है और साथ ही सहायक सेवाएं प्रदान करती है। टाटा मोटर्स की 60 फीसदी हिस्सेदारी है; शेष हिस्सेदारी हिटैची कंसट्रक्शन मशीनरी कंपनी, जापान की है। (www.telcon.co.in/).
  • टाटा टेक्नॉलॉजीज   विशेषीकृत इंजीनियरिंग तथा डिजाइन सेवाएं, प्रॉडक्ट लाइफसाइकिल मैनेजमेंट तथा प्रॉडक्ट केंद्रित सूचना तकनीकी सेवाएं प्रदान करता है(www.tatatechnologies.com/)।
  • टाटा मोटर्स (थाइलैंड) टाटा मोटर्स (70 फीसदी) तथा थोनबुरी ऑटोमोटिव असेम्बली प्लांट को (30 फीसदी) के बीच एक संयुक्त उपक्रम है, जो थाइलैंड में कंपनी की पिक-अप वाहनों का निर्माण तथा विपणन करता है(www.tatamotors.co.th/)।
  • टाटा क्युमिंस उच्च हॉर्सपावर की इंजन बनाता है, जिनका इस्तेमाल कंपनी के व्यापारिक वाहनों में किया जाता है।
  • एचवी ट्रांसमिशन तथा एचवी ऐक्सल्स 100-फीसदी अनुषंगी कंपनी है, जो भारी तथा मध्यम वजन के व्यापारिक वाहनों के लिए गियरबॉक्स तथा ऐक्सल का निर्माण करती है।
  • टीएसएल मैन्युफैक्चरिंग सॉल्यूशंस एक 100-फीससी अनुषंगी कंपनी है, जो फैक्ट्री ऑटोमेशन सेवाएं समाधान तथा डिजाइन प्रदान करती है साथ ही कई प्रकार के मशीन टूल्स का भी निर्माण करती है(www.tal.co.in/)।
  • हिस्पैनो कैरोसेरा एक स्पेनिश बस निर्माता कंपनी है, जिसमें टाटा मोटर्स ने वर्ष 2009 में 100 फीसदी हिस्सेदारी हासिल कर ली है (www.hispano-net.com/)।
  • कंकॉर्ड मोटर्स टाटा मोटर्स की एक 100 फीसदी अनुषंगी कंपनी है, जो कई प्रकार के यात्री वाहनों का निर्माण करती है (www.concordemotors.com/)।
  • टाटा मोटर्स फाइनेंस एक 100 फीसदी अनुषंगी कंपनी है, जो टाटा मोटर्स के ग्राहकों तथा इसके चैनल पार्टनरों को वित्त प्रदान करती है (www.tmf.co.in)।

स्थान

टाटा मोटर्स के प्लांट जमशेदपुर (पूर्वी भारत), पुणे तथा सानंद  (पश्चिम), धारवाड़ (दक्षिण पश्चिम) तथा   लखनऊ व पंतनगर (उत्तर) में स्थित हैं। टाटा मोटर तथा फिएट ने पुणे के समीप रांझनगांव में एक कॉमन निर्माण संयंत्र की स्थापना की है।

यह प्रोफाइल मार्च 29, 2017 को 13:22 भारतीय मानक समय पर अद्यतन किया गया था।
अधिक जानकारी के लिए कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट देखें (वेबसाइट लिंक इस पृष्ठ पर 'संपर्क' अनुभाग में उपलब्ध है)