पॉवरलिंक ट्रांसमिशन्स

पॉवरलिंक ट्रांसमिशन्स (पॉवरलिंक) को 2003 में टाटा पॉवर तथा पॉवर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के बीच 51:49 की साझीदारी वाला संयुक्त उपक्रम बनाया गया था। पॉवरलिंक के पास अंतर्राज्यीय पारेषण लाइनें हैं जिनको 1020 MW टाला हाइड्रो-इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट, भूटान तथा पूर्वी व उत्तर-पूर्वी क्षेत्रों की अतिरिक्त विद्युत को निकालने के लिए स्थापित किया गया था। यह कंपनी, पारेषण क्षेत्र में सार्वजनिक–निजी साझीदारी का एक उदाहरण है।

पॉवरलिंक एक ISO 9001:2000, ISO 14001:2004 तथा OHSAS 18001:2007 कंपनी है जो सुरक्षा तथा पर्यावरण मामलों में प्रतिबद्ध है।

व्यापार के क्षेत्र

इस कंपनी ने पश्चिमी बंगाल के सिलीगुड़ी तथा नई दिल्ली के निकट मंडोला, उ.प्र. के बीच 400 kV की पारेषण लाइन की स्थापना की है, जो कि 1166 किमी की दूरी है। यह लाइन सितंबर 2006 से सफलतापूर्वक परिचालित हो रही है। 400 kV मुजफ्फरपुर–गोरखपुर लाइन ने उत्तरी क्षेत्र व उत्तर-पूर्वी तथा पूर्वी क्षेत्र तथा पश्चिमी क्षेत्र के बीच (84,000MW की संयुक्त स्थापित क्षमता के साथ) अंतःक्षेत्रीय तुल्यकालिक अंतःसंबंधों में सहायता की है। यह कंपनी इन लाइनों को 99 प्रतिशत से ऊपर की क्षमता तक बनाए रखने में सफल रही है।

स्थान

पॉवरलिंक्स का कॉरपोरेट ऑफिस नई दिल्ली, भारत में स्थित है। परियोजना कार्यालय सिलीगुड़ी, लखनऊ तथा मुजफ्फरनगर व साइट कार्यालय मंडोला, डलखोला, गोरखपुर, सहरसा, बरेली तथा पुरेना में स्थित हैं।

यह प्रोफाइल दिसम्बर 05, 2013 को 13:34 भारतीय मानक समय पर अद्यतन किया गया था।
अधिक जानकारी के लिए कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट देखें (वेबसाइट लिंक इस पृष्ठ पर 'संपर्क' अनुभाग में उपलब्ध है)