असोशिएटेड बिल्डिंग कम्पनी

द असोशिएटेड बिल्डिंग कम्पनी की स्थापना जनवरी 1921 में टाटा समूह के मुख्य कार्यालय बॉम्बे हाउस का निर्माण करने हेतु की गई थी। यह अन्य टाटा कम्पनियों की सहयोगी है।

द असोशिएटेड बिल्डिंग कम्पनी की स्थापना जनवरी 1921 में टाटा समूह के मुख्य कार्यालय बॉम्बे हाउस का निर्माण करने हेतु की गई थी। यह अन्य टाटा कम्पनियों की सहयोगी है।

व्यापार के क्षेत्र

उस समय जिस नवसारी चैम्बर्स में कार्यालय था, वह स्थान अपर्याप्त होने के कारण समूह के मुख्य कार्यालय का निर्माण कार्य शुरू किया गया। इस परियोजना के आर्किटेक्ट थे ज्योर्ज विटेट, जिन्होंने मुंबई की कुछ सबसे अधिक जानी पहचानी इमारतों जैसे प्रिन्स ऑफ वेल्स म्यूज़ियम, गेटवे ऑफ इन्डिया और किंग एडवर्ड मेमोरियल अस्पताल की डिज़ाइन बनाई थे। 1924 में यह भवन सम्पूर्ण रूप से तैयार हो गया। द असोशिएटेड बिल्डिंग कम्पनी ने तब से बॉम्बे हाउस की देखभाल की है और उसके विरासती रूप तथा उसके सौंदर्य को बरकरार रखने में मददगार रही है।

हाल ही में बॉम्बे हाउस को इन्डियन ग्रीन बिल्डिंग काउन्सिल द्वारा प्रतिष्ठित गोल्ड स्टार रेटिंग का पुरस्कार दिया गया और इस प्रकार का रेटिंग पाने वाला यह भारत का सबसे पहला विरासत भवन बना।

व्यापार के क्षेत्र

द असोशिएटेड बिल्डिंग कम्पनी समूह मुख्यालय का रखरखाव कार्य संभालती है और सुरक्षा, केन्द्रीय वातानुकूलन, भवन प्रबंधन प्रणालियां (बिल्डिंग मैनेजमेन्ट सिस्टम्स) तथा बिजली की बचत करने हेतु बिजली सम्बन्धित समाधान उपलब्ध करवाती है ताकि कार्बन फ़ुटप्रिंट कम किए जा सकें। कम्पनी बॉम्बे हाउस में किए जाने वाले आधुनिकीकरण, फेरबदल और सिविल/इलेक्ट्रिकल के कार्यों पर निगरानी रखती है और स्थानीय कानूनों और सुरक्षा उपायों का अनुपालन सुनिश्चित करती है। कम्पनी टाटा की विभिन्न कम्पनियों को सुरक्षा एवं ऊर्जादक्षता परियोजनाओं के बारे में मार्गदर्शक सेवाएं भी उपलब्ध करवाती है।

स्थल

कम्पनी मुंबई, भारत में स्थित है।

यह प्रोफाइल मई 03, 2016 को 17:34 भारतीय मानक समय पर अद्यतन किया गया था।
अधिक जानकारी के लिए कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट देखें (वेबसाइट लिंक इस पृष्ठ पर 'संपर्क' अनुभाग में उपलब्ध है)