दिसम्बर 2016 | गायत्री कामथ

स्टीली एंड स्टर्डी (फौलादी और मजबूत)

टाटा स्टील प्रॉसेसिंग तथा डिस्ट्रिब्यूशन की बदलाव प्रक्रिया शुरू करने में बिजनेस एक्सीलेंस एक उत्प्रेरक रहा है, एक उद्योग जो अपने हर बढ़ते कदम के साथ और ज्यादा परिपक्व होता गया है

जब एक स्टील कंपनी, अपने औद्योगिक ग्राहकों के लिए चलंत समाधान बनाने की बात करती है, बिल्कुल किसी उपभोक्ता उत्पाद वाली कंपनी की तरह ही- कारों और विनिर्माण उपकरणों के पुर्जों का आर्डर किसी एप द्वारा, और खरीदार के संयंत्र को एक जीपीएस-सक्षम ट्रक से ट्रैकिंग और आपूर्ति के एलर्ट मिल रहे हों- यह आइडिया अपने समय से थोड़ा आगे है।

सीखें कि कैसे बिजनेस एक्सीलेंस ने टाटा स्टील प्रॉसेसिंग एंड डिस्ट्रिब्यूशन के लिए नए रास्ते और नए आयाम खोले हैं

और फिर, यह एक पूर्णतः नया ग्राहक अनुभव है जिसे जमशेदपुर स्थित टाटा स्टील प्रॉसेसिंग एंड डिस्ट्रिब्यूशन ने गढ़ा है।

आज, टीएसपीडीएल भारत की सबसे बड़ी स्टील प्रसंस्करण कंपनी है जिसका सालाना राजस्व विव16 में रु. 19 बिलियन रहा है। कंपनी का तकरीबन 70 प्रतिशत उत्पादन उच्च मांग वाले ऑटोमोबाइल ओरिजिनल इक्विपमेंट मैन्यूफैक्चरिंग (ओईएम) सेक्टर को जाता है। इसलिए, गुणवत्ता और उत्कृष्टता, केवल दुहरानेवाले शब्द मात्र नहीं बल्कि व्यावसायिक नीति के अभिन्न अंग हैं।

इससे पहले, टीएसपीडीएल ने यह महसूस किया था कि चूंकि बाजार में इतने अधिक स्टील आपूर्तिकर्ता मौजूद हैं, इसलिए इस श्रेणी में श्रेष्ठता बनाए रखने के लिए यह आवश्यक है कि ग्राहकों के प्रति उपयुक्त संक्रेंद्रण बनाए रखना सुनिश्चित किया जाए। यह 2003 में शुरू हुई बिजनेस एक्सीलेंस की ओर कंपनी की यात्रा का एक उत्प्रेरक रहा। तब से, टीएसपीडीएल टाटा बिजनेस एक्सीलेंस मॉडल (टीबीईएम) के साथ ही, टोटल क्वालिटी मैनेजमेंट (टीक्यूएम) कार्यक्रमों के माध्यम से काम कर रहे हैं, ताकि इस दर्शन को साकार किया जा सके।

यद्यपि यह चुनौतीपूर्ण रही, लेकिन यह 13 वर्ष की यात्रा टीएसपीडीएल के लिए हमेशा फलदायी रही है। एक ऐसे समय में जब स्टील की कीमतें दक्षिणी शीर्ष* पर हैं और स्टील उद्योग एक दबाव के दौर से गुजर रहा है, टीएसपीडीएल विव15-16 में अपना शुद्ध लाभ दुगुना कर इसे रु 490 मिलियन तक पहुंचाने में सफल रहा है, जिसके साथ रु19 बिलियन की राजस्व बढ़त शामिल है (गत तीन वर्षों में 6 प्रतिशत सीएजीआर दर्शाते हुए), और जबकि इसके रु. 1.04 बिलियन का ईबीआईटीडीए ने 17 प्रतिशत सीएजीआर दर्ज किया है। प्रबंध निदेशक अब्राहम स्टीफंस कंपनी के इस सुदृढ़ कार्यप्रदर्शन का श्रेय बिजनेस एक्सीलेंस को एक व्यवस्थित प्रक्रिया बनाने के लिए एक संगठन-व्यापी प्रयास को देते हैं: “कई तरह से, टीबीईएम हमारे लिए एक मुख्य प्रबंधन उपकरण की तरह काम करता है। गुणवत्ता के मानकों पर खरा उतरने की प्रवृत्ति से, अब हमने उत्कृष्टता के प्रति सक्रिय भागीदारी की ओर कदम बढ़ाए हैं।”

आंकड़ों की बढ़त
परिणाम शीघ्र ही दिखने शुरू हो जाएंगे। एक तरफ, टीबीईएम आंकड़े में बढ़त शुरू हो गई है। दूसरी तरफ, मुख्य परिणाम के क्षेत्र में बदलाव आए हैं, जैसे एचआर तथा सुरक्षा। एचआर की एक प्रमुख विशेषता “स्टार मैनेजर्स” कार्यक्रम रही है जो उच्चस्तरीय कार्यनिष्पादकों को जोड़ता है, ताकि उन्हें नौकरी के दौरान प्रशिक्षण के साथ ही बहु-स्थानीय, बहु-कार्यिक अनुभव प्राप्त हो सके। यह आनेवाली नेतृत्व पीढ़ी को मजबूत बनाने में सहायक रहा है, जिसके माध्यम से 2012 में 68 प्रतिशत की बनिस्पत, अभी 90 प्रतिशत महत्वपूर्ण पदों को आंतरिक रूप से भरा जाता है। “हमारे कुछ स्टार मैनेजर अभी हमारी इकाइयों के प्रमुख हैं”, कहते हैं श्री स्टीफंस।

सुरक्षा एक अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्र है। “2007 में, हमारे यहां लगभग 360 समय हानि घटनाएं (लॉस टाइम इंसिडेंट्स) हुईं, जिनका प्रतिदिन एक का औसत रहा”, श्री स्टीफंस बताते हैं। 2015 तक यह संख्या घटकर तीन-चार घटनाओं तक पहुंच गई। विशेष रूप से, ठेका कार्मिकों को अब सभी कार्यस्थलों पर सुरक्षा मानकों में सम्मिलित किया गया है। “हमारा जोर अब एक मजबूत सुरक्षा संस्कृति बनाने पर है”, एमडी कहते हैं।

2014 में- टीबीईएम कार्यक्रम में शामिल होने के एक दशक बाद- टीएसपीडीएल ने अपनी टीबीईएम संख्या में 600 प्वाइंट की रेखा पार करने के बाद जेआरडी क्यूवी अवार्ड प्राप्त किया। “टीबीईएम यात्रा ने नई संभावनाओं की ओर हमारी आंखें खोली हैं। दो वर्ष पूर्व, हमने कंपनी के लिए एक नया दृष्टिकोण तय किया- ‘सेवा उत्कृष्टता में वैश्विक मानक बनने का’, कहते हैं एमडी।

केटरपिलर प्रोत्साहन
नए दृष्टिकोण के लिए एक खास प्रोत्साहक रहा- केटरपिलर से इसका जुड़ाव, जो निर्माण तथा खान उपकरणों में एक वैश्विक अग्रणी हैं। टाडा, आंध्रप्रदेश स्थित टीएसपीडीएल के हाइ-टेक कारखाने से केटरपिलर को पूर्व-निर्मित भारी प्लेट घटकों की आपूर्ति होती है। आपूर्तिकर्ता गुणवत्ता उत्कृष्टता प्रक्रिया का पत्र स्वीकार करते हुए, टीएसपीडीएल ने अपने स्टील गुणवत्ता मानकों में सुधार करते हुए इसे 1,000पीपीएम (पार्ट्स पर मिलियन) से घटाकर शून्य कर लिया- और यह दुनिया का पहला ऐसा स्टील आपूर्तिकर्ता है जिसने यह कमाल कर दिखाया है। 2014 में, केटरपिलर ने टीएसपीडीएल को अपने वैश्विक आपूर्तिकर्ताओं में प्लैटिनम स्तर आपूर्तिकर्ता का रैंक प्रदान करते हुए सर्वश्रेष्ठ माना है। “यह एक महान उपलब्धि थी, और हमें इसका गर्व है। लेकिन इसमें एक अकेला संयंत्र और एक ग्राहक सम्मिलित है। हम आपूर्ति की उत्कृष्टता की इस अवधारणा को पूरे संगठन में विस्तारित करना चाहते हैं। जो हमें हमारे नए सेवा उत्कृष्टता दृष्टिकोण को स्वीकारने के लिए प्रेरित करे”, श्री स्टीफंस कहते हैं।

सांचे को तोड़ना
एक ऐसा संगठन बनने की ओर कदम बढ़ाना जो सेवा उत्कृष्टता की अवधारणा के आधार पर निर्मित हो, साहसिक था और अब रणनैतिक रूप से अनिवार्य भी है। “स्टील की गुणवत्ता बहुत समय तक ग्राहकों की निष्ठा के लिए उत्प्रेरक नहीं कर सकती; यह हमेशा सुधारने की चीज है।* हमें अपने ग्राहकों को एक बेहतर स्टील खरीद अनुभव प्रदान करना होगा। व्यवसाय में अपनी भागीदारी बढ़ाने और निष्ठा कायम करने का यही एक तरीका है”, कहते हैं श्री स्टीफंस।

इसे करने के लिए, टीएसपीडीएल ने अपने ग्राहकों से जुड़ने की प्रक्रिया की फिर से समीक्षा की है। खासतौर पर, एक आर्डर और इसकी आपूर्ति के बीच का प्रगति-काल एक माह तक लंबा खिंच सकता है, जिसके साथ ही ग्राहकों को इसका कोई अंदाज नहीं होता कि ठीक कब उसका सामान उसे मिलेगा। इस प्रक्रिया को अब ग्राहकों के लिए और ज्यादा पारदर्शी बनाया जा रहा है। “हर इकाई में, हमने अपने आपूर्ति मानकों की ट्रैकिंग का काम शुरू किया है ताकि हम ऑन-टाइम-इन-फुल (ओटीआईएफ) आपूर्ति करना सुनिश्चित कर सकें। हमारे ग्राहक भी चकित हो जाते हैं जब हम उन्हें कॉल कर आपूर्ति की तिथि तय करने के बारे में पूछते हैं। यह पहले कभी नहीं हुआ”, श्री स्टीफंस कहते हैं।

ओटीआईएफ आपूर्ति का काम बेहद भारी है, जिसने टीएसपीडीएल को अपनी संपूर्ण मूल्य श्रृंखला की पुनर्संरचना के लिए प्रेरित किया है। एक वर्ष पूर्व, ईवाई को पृष्ठभूमि कार्यों के पुनर्गठन में सहायता के लिए परामर्श हेतु लाया गया था। एक तय ग्राहक आपूर्ति तिथि को पूर्ण करने के लिए काम करने का मतलब है सभी कार्यों के बीच तालमेल बिठाना है, जिसमें आपूर्ति श्रृंखला प्रक्रियाएं, योजना तथा निर्धारण प्रक्रियाएं, परिवहन, आपूर्तिकर्ता पक्ष, स्टील मिलें तथा इसी प्रकार के अन्य सभी पक्ष सम्मिलित हैं।

व्यवस्था को प्रोत्साहित करने के लिए कुछ खास पाइलट प्रॉजेक्टों को शुरू किया गया। फरीदाबाद स्टील प्रसंस्करण केंद्र पर, ग्राहकों के लिए सामान से लदे ट्रकों में जीपीएस इकाइयां लगाई गईं ताकि आपूर्ति को ट्रैक किया जा सके। जमशेदपुर में, आपूर्तिकर्ता ट्रकों में रेडियो फ्रीक्वेंसी पहचान प्रणाली लगाई गई जिससे ट्रक की गति को सुधारा जा सके।

“हमने पहले कुछ कदम सेवा उत्कृष्टता की ओर उठाए हैं”, कहते हैं श्री स्टीफंस। “अंतिम चरण ग्राहकों से इंटरफेस (प्रत्यक्ष संवाद) का होगा, जैसे डिजिटल मोबिलिटी समाधान। भविष्य में, कोई वजह नहीं होगी कि स्टील की आपूर्ति इससे क्यों अलग होनी चाहिए, जिस तरह एक कार या स्मार्टफोन का आर्डर दिया जाता है और आपूर्ति की जाती है।”

एक यात्रा जो टीबीईएम के साथ 13 वर्ष पहले शुरू हुई ने अब नए आयाम प्राप्त कर लिए हैं, और भारत की सबसे बड़ी स्टील प्रसंस्करण कंपनी के लिए नए क्षितिज खोल दिए हैं। टीएसपीडीएल अब एक बदला हुआ संगठन है, और यह लगातार बेहतरी की ओर बदलाव कर रहा है।

यह सामग्री टाटा समूह की कंपनियों में बिजनेस एक्सीलेंस की संस्कृति के बारे में टाटा रीव्यू के अक्टूबर-दिसंबर 2016 संस्करण की आवरण कथा का एक अंग है:
अवलोकन: लगातार सुधार
पांच टाटा कंपनियां बता रही हैं कि किस प्रकार बिजनेस एक्सीलेंस मूल्य निर्माण और व्यवसाय मॉडल को पुनर्गठित करने में सहायक रहा
टाटा बिजनेस एक्सीलेंस ग्रुप: एक अनोखा मॉडल तथा इसकी समग्र विधि
प्रसिद्ध टाटा बिजनेस एक्सीलेंस मॉडल (टीबीईएम) के संरक्षक के रूप में, टाटा बिजनेस एक्सीलेंस ग्रुप (टीबीईएक्सजी) टाटा कंपनियों को विभिन्न कार्य क्षेत्रों में वैश्विक मानक प्राप्त करने में सहायता प्रदान करते रहे हैं
टाटा स्टील: परिवर्तन का पथप्रदर्शन
टाटा स्टील में बिजनेस एक्सीलेंस प्रयासों से कंपनी को अनवरत रूप से एक ऐसे उद्योग के रूप में विकसित होने में सहायता मिली है जो विभिन्न मोर्चों पर परिवर्तनकारी प्रवृत्तियों द्वारा अग्रगामी हो रहा है
टाइटन कंपनी: लक्ष्य: हमेशा बेहतर की ओर
बिजनेस एक्सीलेंस ने टाइटन कंपनी को उभरने की शक्ति दी है, और इसका प्रमाण है एक बहुआयामी सफलता प्रकरण के रूप में इसका विकास
रैलिस इंडिया: श्रेष्ठतम बनने के लिए व्यवस्थित होना
रैलिस इंडिया की व्यावसायिक उत्कृष्टता के सफर में प्रक्रिया ही उसका पथप्रदर्शक और रक्षक है, जिसने कंपनी को फर्श से अर्श तक उठने में सहायता की है
टाटा पावर डेल्ही डिस्ट्रिब्यूशन: गुणवत्ता के लिए ऊर्जा की बचत
टाटा पावर डेल्ही डिस्ट्रिब्यूशन ने अपने संगठनात्मक ढांचे का पुनर्गठन करने, चुनौतियों से निबटने और एक असाधारण उद्यम के रूप में निर्मित होने के लिए बिजनेस एक्सीलेंस पर भरोसा किया है।