अप्रैल 2016 | संघमित्रा भौमिक

'सुखी कार्यबल महत्वपूर्ण है'

क्रिस्टील पाइस भेसानिया, वरिष्ठ उपाध्यक्ष तथा मानव संसाधन के प्रमुख, टाटा एआईए लाइफ, 2016 एऑन सर्वश्रेष्ठ नियोक्ता अवार्ड प्राप्त करते हुए

एऑन श्रेष्ठ नियोक्ता 2016 के अवसर पर, टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष तथा मानव संसाधन के प्रमुख क्रिस्टील भेसानिया, उन प्रमुख एचआर कार्यक्रमों तथा प्रयासों के बारे में बताती हैं जो इसे बीमा क्षेत्र में श्रेष्ठ नियोक्ता बनाते हैं

भावी व्यवसायिक नेतृत्वकर्ताओं को तराशना तथा एक कुशल नेतृत्व विकसित करना एक संगठन के लिए महत्वपूर्ण है, आप इसमें संतुलन कैसे बनाते हैं?
टाटा एआईए लाइफ में, हम कर्मचारियों के बीच पारदर्शिता और उत्तरदायित्व के सृजन पर बल देते हैं। यह संगठन के भीतर विश्वास के निर्माण तथा यह सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण रहा है कि कार्यप्रदर्शन प्रक्रिया पारदर्शी हो। इससे हमारे नेतृत्वकर्ताओं को कार्यनिष्पादन के प्रति उत्तरदायी होने की सुविधा भी मिलती है। हमारा ध्यान अपनी आंतरिक प्रतिभा को विकसित करने पर है जिससे हमारे मुख्य व्यावसायिक लक्ष्यों को प्राप्त किया जा सके।

इसके प्रारंभ के लिए, हमारे पास नेतृत्वकारी भूमिकाओं हेतु श्रेष्ठ प्रतिभाओं की पहचान, उपलब्धता और विकास के लिए एक सुदृढ़ प्रतिभा प्रबंधन प्रक्रिया मौजूद है। हमने श्रेष्ठ प्रतिभाओं तथा निरीक्षकों के बीच करियर तथा वैयक्तिक विकास संवाद की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए एक प्रतिभा सम्मेलन की शुरुआत की है। इस प्रयास को इस उद्योग में एक श्रेष्ठ व्यवहार के तौर पर स्वीकार किया गया है।  हमारी श्रेष्ठ प्रतिभाओं को हमारे इन-हाउस प्रतिभा क्लब, गुड क्लब के सदस्यों के रूप में भी नामांकित किया गया है।

हमारे संरचनात्मक संगठन तथा जन-समीक्षा प्रक्रिया का लक्ष्य मुस्तैदी की पहचान करना तथा महत्वपूर्ण भूमिकाओं के लिए एक उत्तराधिकारी सक्षम समूह तैयार करना है। हम संगठन के लिए एक भावी नेतृत्वकर्ता पीढ़ी निर्मित करने के संदर्भ में हमारी मुख्य प्रतिभाओं के विकास तथा करियर कार्य योजनाओं को साकार करने पर खासतौर पर बल देते हैं। स्पीड– सुपीरियर परफॉरमेंस एक्जेक्यूशन एक्सीलेंस एंड डिलीवरी– हमारे अग्रणी कर्मचारियों के लिए हमारा अनूठा फास्ट ट्रैक कार्यक्रम है, जो प्रतिभावान कर्मचारियों हेतु सहायता तथा संचालन कार्यों के माध्यम से विकास तथा करियर उन्नति के अवसर उपलब्ध कराता है। संगठन की एग्जिक्यूटिव कमेटी के सदस्य भी सक्रिय मार्गदर्शन करते हैं और महत्वपूर्ण भूमिकाओं के लिए भावी ‘पूर्णतः तैयार’ समूह विकसित करने में पर्याप्त समय देते हैं।

एक संगठन के रूप में हम प्रतिक्रियाओं को स्वीकार करते हैं और इससे हमें अनवरत रूप से महत्वपूर्ण व्यावसायिक लक्ष्यों को तय और प्राप्त करने में सुविधा होती है। हम नेतृत्व की प्रभावोत्पादकता में वृद्धि लाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण व्यवहारों के बदलाव की प्रक्रिया को और बढ़ाने के लिए हम हर ओर से आने वाली प्रतिक्रियाओं को ग्रहण करते हैं।

टाटा एआईए में, हमारा विश्वास है कि हर कर्मचारी अपनी अनोखी चमक के साथ एक सितारा है। हमारा लक्ष्य इन सितारों की पहचान कर उन्हें तराशना और संवारना है जिससे वे अपने-आप पर यकीन कर सकें, जीत हासिल करें, अपनी चमक बिखेरें और हमें गौरवान्वित करें।

एक संगठन के रूप में आप शिक्षण, विकास और प्रशिक्षण पर कितना व्यय करते हैं?
शुरुआत से ही शिक्षण, विकास और प्रशिक्षण हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण विषय रहे हैं। हमने खुद से अपने इन-हाउस प्रशिक्षण टीमों, बाहरी सहयोगियों जैसे टीएमटीसी, टीक्यूएमएस, आदि के साथ ही अन्य ढेर सारे विशिष्ट औद्योगिक सहयोगियों से समय-समय पर सहयोग द्वारा क्षमताओं का निर्माण किया है।

हम एआईए ग्रुप से उच्च प्रभावी शिक्षण तथा विकास हस्तक्षेपों का भी उपयोग करते हैं। हमारे शिक्षण माध्यमों में ऑफलाइन, ऑनलाइन के साथ ही मिश्रित शिक्षण भी सम्मिलित है। हमारी नीति यह है कि कर्मचारियों को विविध प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रम उपलब्ध कराए जाएं जो उनकी कार्य-भूमिकाओं तथा उत्तरदायित्वों पर आधारित हों। हमारी प्राथमिकता यह सुनिश्चित करना है कि उनका विकास उनकी भूमिकाओं के अनुरूप हो और इससे उन्हें अपने व्यक्तिगत और पेशेवर लक्ष्यों को हासिल करने में भी सहायता मिले।

हम अपने प्रबंधकों के लिए हस्तक्षेप और प्रशिक्षण योजनाओं को डिजाइन करने और बनाने के लिए एमबीटीआई, 360 डिग्री (या व्यापक) तथा मैनेजर स्कोरकार्ड्स जैसे मूल्यांकन उपकरणों का उपयोग करते हैं। हमारे गुड क्लब के सदस्य विशेष रूप से अनुकूलित हस्तक्षेप प्राप्त करते हैं जो उन्हें संभावित भावी भूमिकाओं के लिए तैयार करता है। हम यह भी सुनिश्चित करते हैं कि हमारे कर्मचारी औद्योगिक मानदंडों जैसे एलओएमए तथा एफएलएमआई और अन्य अंतर्राष्ट्रीय प्रमाणन एजेंसियों के अनुरूप प्रमाणित हों।

मौजूदा बाजार परिदृश्य में प्रतिभाशाली लोगों को लेने और उन्हें अपने साथ बनाए रखने के संदर्भ में आपको किन प्रमुख चुनौतियों का समाना करना पड़ता है?
हम एक संरचनात्मक नियुक्ति नीति का पालन करते हैं और सही प्रतिभाओं को इस प्रक्रिया से आकर्षित करने और अपने साथ बनाए रखने में काफी सफल रहे हैं। हमारे संगठन में काम छोड़ने की दर इस उद्योग के अन्य संगठनों की तुलना में काफी कम रही है। हम अपने विशेष एचआर हस्तक्षेपों के माध्यम से अपनी श्रेष्ठ प्रतिभाओं को अपने साथ बनाए रखने में सफल रहे हैं, जिसकी शुरुआत एक प्रसन्नतापूर्ण शुरुआती अनुभव के साथ होती है, और नवाचारी कर्मचारी संलग्नता या सहभागिता प्रयासों, संगठित प्रशिक्षण तथा विकास कार्यक्रमों, प्रतिभा प्रबंधन, तथा पुरस्कार और सराहना प्रयासों के जरिए एक उच्च कर्मचारी संलग्नता अनुभव सुनिश्चित किया जाता है, जिसके परिणामस्वरूप हम अपने संगठन की मुख्य प्रतिभाओं को रोके रखने में सफल रहे हैं और हमारे संगठन में काम छोड़ने की दर कुल मिलाकर काफी कम रही है।

श्रेष्ठ कर्मचारी पुरस्कार का यह सफर कितना कठिन है?
हमारे कर्मचारियों को खुशी है कि टाटा एआईए लाइफ को एऑन बेस्ट एम्प्लॉइ अवार्ड 2016 मिला है। यह पुरस्कार टाटा एआईए लाइफ को एक उच्च प्रदर्शन वाला संगठन बनाने में सहयोगी प्रत्येक कर्मचारी के योगदान की सराहना का प्रतीक है। इस अध्ययन में 12 उद्योगों से आनेवाली 113 कंपनियों को शामिल किया गया, जिनमें कुल मिलाकर लगभग 950,000 कर्मचारी काम करते हैं। ‘प्रयोजन-अभिकल्पन-अनुभव’ के बीच संरेखण की माप के लिए एक सख्त विश्लेषण संचालित किया गया है, और इसे भाग लेनेवाले सभी संगठनों के सीईओ सर्वेक्षण, साक्षात्कार, लोक व्यवहार सर्वेक्षण तथा कर्मचारी अभिमत सर्वेक्षणों के जरिए आकलित किया गया है।

उपलब्ध विवरणों की पुष्टि के लिए एक सख्त ऑन-साइट परीक्षण के माध्यम से सूचीबद्ध संगठनों का चयन किया गया है। इस प्रक्रिया के दौरान प्रतिभागी संगठनों के नाम गोपनीय रखे गए और उन्हें केवल अंतिम चयन के बाद ही निर्णायकों के समक्ष उजागर किया गया है। निष्पक्ष निर्णायकों के एक बाहरी पैनल, जिसमें कॉरपोरेट तथा अकादमिक समुदाय के सदस्य सम्मिलित होते हैं, के द्वारा प्रतिभागियों का मूल्यांकन किया गया है और अंतिम रूप से भारत के श्रेष्ठ नियोक्ता 2016 का चयन किया गया है।

यह श्रेष्ठ में भी श्रेष्ठतम का मूल्यांकन है।

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस को कौन सी चीज श्रेष्ठ नियोक्ता बनाती है?
एक उच्च कार्यनिष्पादन युक्त कार्य-संस्कृति का सफलतापूर्वक सृजन करने की क्षमता और कार्य तथा जीवन के सामंजस्य के बीच सही संतुलन बनाए रखना, जहां हमारे कर्मचारी अपना श्रेष्ठतम योगदान देने को बेहद उत्सुक रहें, कार्य में संलग्न तथा प्रसन्न रहें, हमें एक श्रेष्ठ नियोक्ता बनाता है।

हमारा यह दृढ़ विश्वास है कि ‘काम के प्रति जुनून से ही काम में पूर्णता आती है’।

तरनदीप सिंह, सहभागी, प्रतिभा तथा प्रदर्शन परामर्शी, एऑन हैविट (इंडिया) ने कहा, “हम टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस को एक एऑन सर्वश्रेष्ठ नियोक्ता चुने जाने पर बधाई देते हैं। जिन कठिन समयों से बीमा उद्योग गुजर रहा है, उसमें टाटा एआईए फुर्तीली और प्रभावी प्रथाओं के माध्यम से मौजूदा प्रतिभा पर उचित ध्यान केन्द्रित करना सुनिश्चित करती है। एक सहयोगात्मक कार्य-परिवेश निर्मित करना, जो इस प्रकार के मुश्किल दौर में संगठन के कर्मचारियों के माध्यम से अभिव्यक्त होता हो, एक श्रेष्ठ नियोक्ता होने का सच्चा प्रमाण है।” संलग्नता या सहभागिता एक संगठन तथा कर्मचारी के बीच की दोतरफा प्रक्रिया होती है। इस संलग्नता या सहभागिता के प्रथम स्तर पर कर्मचारी के पास अपना करियर या पेशा होता है और संलग्नता या सहभागिता के द्वितीय स्तर पर कर्मचारी अपने संगठन के प्रति भावना रखता है।

टाटा एआईए लाइफ स्पष्ट उद्देश्य और एक ऐसा कार्य-परिवेश मुहैया कराता है जिसमें हमारे कर्मचारियों के महत्व को स्वीकृति मिलती है और एक उच्च कार्यनिष्पादन युक्त कार्य-संस्कृति के निर्माण का प्रयास किया जाता है। हमारा यह दृढ़ विश्वास है कि एक संलग्न और खुश कार्यबल, निरंतर प्रतिस्पर्धात्मक लाभ प्राप्त करने और त्वरित व्यावसायिक प्रदर्शन के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस, टाटा ऑटोकॉम्प सिस्टम्स, टाटा केमिकल्स और टाटा कम्युनिकेशंस को एऑन सर्वश्रेष्ठ नियोक्ता पुरस्कार 2016 से सम्मानित किया गया। मानव संसाधन विभाग के प्रमुख ने उन श्रेष्ठ व्यवहारों के बारे में बताया, जो हर कंपनी के लिए इस पुरस्कार को जीतने में सहायक हैं। और पढें:
अवलोकन: लोगों को प्राथमिकता देना
टाटा ऑटोकॉम्प बदलावों के दौर में है और सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त करता है — सीबा सत्पथी, अध्यक्ष (लोक & संलग्नता) तथा सीएचआरओ, टाटा ऑटोकॉम्प
रूपांतरण प्रक्रिया में सबसे ऊपर' — आर नंदा, मुख्य मानव संसाधन अधिकारी, टाटा केमिकल्स
'काम करने के लिए श्रेष्ठ परिवेश का निर्माण हमारे लिए महत्वपूर्ण लक्ष्य रहा है' — आदेश गोयल, मुख्य मानव संसाधन अधिकारी, टाटा कम्युनिकेशंस