मार्च 2016

'स्पष्ट लक्ष्य और उद्देश्य महत्वपूर्ण हैं'

विनोद कुमार, प्रबंध निदेशक तथा समूह सीईओ, टाटा कम्यूनिकेशंस, बताते हैं कि क्यों संगठन ने व्यवसाय की सफलता के लिए महत्वपूर्ण, कार्यस्थल पर विविधता तथा समावेशन (डी&आई) को मान्यता दी है, और कैसे यह सुनिश्चित किया है कि डी&आई को बनाए रखा जाए।

वैश्विक अनुसंधानों के अनुसार, नेतृत्व की विविधता अधिक महान व्यावसायिक सफलताएं प्रदान करती है। संगठनों को एक विविधिकृत नेतृत्व श्रेणी तैयार करने के लिए क्या करना चाहिए?
ऐसे जागरुक नेतृत्वकर्ता बनाना, जो व्यवसाय में विविधता के महत्व और प्रभाव को मान्यता देते हों, सबसे बुनियादी सिद्धांत है। आंतरिक और बाह्य दोनों तरह से यह एक मजबूत आउटरीच के साथ, जो एक स्वस्थ और विविधीकृत मिश्रण उपलब्ध कराने के लिए मौजूद कीप (फनल) में वृद्धि करता हो, बेहतरीन प्रतिभा को सामने लाएगा। इसके साथ ही, हमें समेकित नीतियों के माध्यम से एक समानतायुक्त सहयोगी और प्रोत्साहक वातावरण भी बनाना होगा जो प्रतिधारण की क्षमता पैदा करे। इसके साथ ही, यहां क्षमता निर्माण पर एक प्रबल संकेंद्रण की जरूरत होगी ताकि कर्मचारी अपनी क्षमताओं की पहचान कर सकें और शिक्षण तथा विकास के अवसरों पर संकेंद्रित प्रदर्शनों के जरिए संगठन में अपने लिए एक सफल करियर बना सकें।

आप वैश्विक व्यवसाय के मुख्य संचालक के रूप में विविधता के प्रत्यक्ष प्रस्तावक हैं। टाटा कम्यूनिकेशंस में विविधता और समावेशन की व्यावसायिक रूप से क्या स्थिति है?
टाटा कम्यूनिकेशंस में, हम दुनियाभर के अपने ग्राहकों को संपर्क और सहयोग समाधान उपलब्ध कराने के लिए जो करते हैं। हमारी सेवाओं का विविधिकृत स्वभाव विविधता के समावेशन पर आधारित है, भौतिक और तकनीकी स्तरों पर भी। हमारा विश्वास है कि किसी संगठन के व्यावसायिक उद्देश्य उसके आंतरिक स्तरों तक निहित होने चाहिए कि वह किस प्रकार आंतरिक रूप से संचालित होता है। इसलिए यह अनिवार्य है कि एक ऐसी संगठनात्मक संस्कृति अपनाई जाए जो वैविध्यपूर्ण, समेकित, सहयोगात्मक तथा गहराई से अंतर्संबंद्ध हो। दूसरा व्यावसायिक उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि हम उन युवा महिलाओं की मानसिक क्षमताओं का लाभ उठा सकें जिनकी तादाद दुनियाभर के विश्वविद्यालयों से निकलनेवाले स्नातकों में तकरीबन 60 प्रतिशत है, खासतौर पर इसलिए भी कि हम अपने व्यावसायिक प्रारूपों में परिवर्तन लाने के लिए युवा प्रतिभाओं को सामने ला रहे हैं।

कार्य-जीवन समावेशन को आसान बनाना
लिंग-निरपेक्ष नीतियां जिनमें दत्तक-ग्रहण, मातृत्व तथा पितृत्व अवकाश सम्मिलित हैं।

  • नए माता-पिता के लिए एक तीन माह की लोचदार कार्य नीति।
  • कर्मचारियों के बच्चों के लिए पालनाघरों से गठबंधन।
  • निकटतम सार्वजनिक यातायात स्थल तक आवागमन की शटल-सेवाएं।
  • महिला कर्मचारियों के काम में देरी होने पर मुफ्त टैक्सी सेवाएं।

विनिंग मिक्स के द्वारा आप किस प्रकार के प्रभाव देखने की अपेक्षा रखते हैं? एक रणनैतिक प्रयास के रूप में इसकी स्थिति ने किस प्रकार डी&आई मुद्दे से संबद्ध संवाद को परिवर्तित कर दिया है?
हमारा विविधता और समावेशन प्रयास, जिसे विनिंग मिक्स का नाम दिया गया है, का प्रारंभ प्रबंधन-प्रायोजित प्रदर्शनों के माध्यम से किया गया और इसे स्पष्ट लक्ष्यों तथा उद्देश्यों के लिए एक रणनैतिक व्यावसायिक आवश्यकता के रूप में व्यवहृत किया गया है, जिन्हें आंतरिक रूप से प्रकाशित किया गया है। ब्लॉग, संबद्ध वीडियो तथा चर्चाओं के माध्यम से भागीदारी से इस संदेश का प्रचार-प्रसार करने में सहायता मिली और टाटा कम्यूनिकेशंस में एक समुदाय का निर्माण हुआ जो विविधता को मान्यता देता है, विश्वास करता है और अपनाता है।

हम इसे विभिन्न तरीकों से प्रचारित करने पर बल दे रहे हैं। वरिष्ठ नेतृत्वकर्ताओं का मुख्य ध्यान सभी स्तरों पर महिलाओं के प्रतिशत में इजाफा करने पर है। वरिष्ठतम नेतृत्वकर्ताओं के साथ कार्य-निष्पादन तथा प्रतिभा निरीक्षणों में लक्ष्यों, विशिष्ट कार्यक्रमों तथा प्रदर्शनों पर चर्चाओं को सम्मिलित किया गया है। इससे विनिंग मिक्स प्रयास पर संकेंद्रण बना रहता है और इसका महत्व प्रकट होता है। मध्यवर्ती प्रबंधन तथा वरिष्ठ प्रबंधन के मुख्य समूह हमारी साप्ताहिक विविधता गोलमेज बैठकों के माध्यम से इसमें सक्रिय रूप से सहभागिता निभाते हैं। इससे उन्हें अपने नेतृत्व में, अपनी टीमों और समूहों में एक लैंगिक-रूप से संतुलित कार्यस्थल की संभावना का लाभ उठाने में सहायता मिलती है, जिससे जागरुकता का निर्माण होता है, महिला-प्रोत्साहन को बढ़ावा मिलता है और इस यात्रा के उत्प्रेरण को मान्यता मिलती है। संबद्ध भागीदारों के साथ विनिंग मिक्स के सिद्धांत, लक्ष्यों तथा कार्यों के संबंध में अब हमारा संवाद मुखर है।

कार्यबल में महिलाओं की भूमिका महत्वपूर्ण होती जा रही है। क्या आपने टाटा कम्यूनिकेशंस में महिलाओं की नियुक्ति में वृद्धि देखी है और करियर में प्रगति, अभिभावकत्व, मातृत्व अवकाश आदि के संदर्भ में उनके लिए किस प्रकार का सहयोग मुहैया कराया जाता है?
हमने अपनी नई सम्मिश्रित नियुक्तियों में महिलाओं की 15 प्रतिशत वृद्धि की है, जो सितंबर 2015 तक 26 प्रतिशत के स्तर तक पहुंच गया है। नेतृत्व अनुपात गत वर्ष के 10 प्रतिशत से बढ़कर 11 प्रतिशत तक पहुंच गया है। महिला प्रतिभा समूह तक पहुंच और नियुक्तियों की जागरुकता में शुद्ध रूप से मजबूत व्यावासायिक संदर्भ में इजाफा हुआ है जो हमारी लैंगिक विविधता के संदर्भ में है। हमने हाल ही में ‘प्रेरणा की चाहत’ शुरू की है, यह एक अभियान है जिसके तहत टाटा कम्यूनिकेशंस में महिला नेतृत्वकर्ताओं के मजबूत, स्थायी तथा सुरक्षित करियर को दर्शाया गया है, जिसे काफी प्रचार मिला है।

कर्मचारी उस समावेशी संस्कृति तथा नीतियों को स्वीकार करने लगे हैं जिसे हमने सफलतापूर्वक निर्मित किया है। यहां यह ध्यातव्य है कि यद्यपि हम लैंगिक संतुलन को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं, किंतु हमारे सभी कार्यक्रम तथा नीतियां लैंगिक रूप से निरपेक्ष हैं। यहां मध्यवर्ती प्रबंधन कर्मचारियों के लिए अभिभावकत्वपूर्ण संयोजन है जिसके तहत हम इस कार्यक्रम के लिए नामांकित महिलाओं की सहायता करते हैं। वरिष्ठ प्रबंधन हेतु, हमारे डेवलपमिंट(DevelopMINT) कार्यक्रम के एक भाग के तौर पर हमारे पास कुछ बेहद उच्च क्षमतावाले कर्मचारी हैं, जिन्हें नेतृत्वकारी भूमिकाओं में लाने के लिए संरचित विकासात्मक योजना है। इन उच्च क्षमतावान कर्मचारियों के लिए करियर चक्रण, नौकरी सहित प्रशिक्षण तथा अभिभावकत्व मुहैया कराए गए हैं।

टाटा जैसे एक वैविध्यपूर्ण समूह में किस प्रकार श्रेष्ठ व्यवहारों पर अमल किया जा सकता है, खासतौर पर उन कंपनियों में जहां डी&आई यात्रा अभी बस शुरू ही हुई है?
स्पष्ट लक्ष्यों के साथ एक संरचित दृष्टिकोण विविधता और समावेशन को लागू करने का मुख्य उत्प्रेरक है। उपरोक्त के साथ ही, हर स्तर पर परिषदों, समुदायों तथा कर्मचारियों की राय के माध्यम से मजबूत आंतरिक सहभागिता का निर्माण भी समान रूप से महत्वपूर्ण है। यह सुनिश्चित करेगा कि इन प्रयासों को एक सामयिक परियोजना या प्रयास के तौर पर न लिया जाए, बल्कि व्यावसायिक सफलता के लिए महत्वपूर्ण अनिवार्यता के रूप में ग्रहण किया जाए। हितधारक अंतःक्रय और व्यावसायिक सहभागिता के साथ जोरदार संचार अभियानों से इस एजेंडे को और भी मजबूती मिलेगी।

एक वृद्धिशील प्रवृत्ति

  • वर्तमान लैंगिक मिश्रण– वित्तीयवर्ष 14 के 16:84 की अपेक्षा वित्तीयवर्ष 15 में 18:82
  • इस वित्तवर्ष की वर्तमान तिथि तक नई नियुक्तियों में लैंगिक अनुपात 23:77 है, जो वित्तवर्ष 14 में 19:81 था।
  • वैश्विक प्रबंधन समिति में महिलाओं का 25 प्रतिशत प्रतिनिधित्व।
  • नियुक्त किए गए उच्च स्तर के 17 प्रबंधकों में 12 में एक महिला को मुख्य प्रबंधक तथा इससे ऊपर के स्तर पर नियुक्त किया गया है।
  • वरिष्ठ प्रबंधक स्तर पर नियुक्त महिलाओं की संख्या में इजाफा हुआ है।