अमित चंद्रा

अमित चंद्रा को टाटा सन्स का गैर-कार्यकारी निदेशक नियुक्त किया गया है। श्री चंद्रा बेन कैपिटल में प्रबंध निदेशक के रूप में काम कर रहे हैं और वे एशिया में इस फर्म की लीडरशिप टीम का हिस्सा हैं। उन्होने 2008 की शुरुआत में उन्होने बेन कैपिटल में प्रबंध निदेशक के रूप में काम करना शुरु किया था।

बेन कैपिटल के लिए काम शुरु करने से पहले श्री चंद्रा ने भारत के अग्रणी निवेश बैंक डीएसपी मेरिल लिंच में काम किया था। इस फर्म में उनके पास वैश्विक बाजारों और निवेश बैंकिंग व्यवसाय का प्रत्यक्ष पर्यवेक्षण था, जिसमें इस फर्म के पर्याप्त प्रमुख निवेश व्यवसाय शामिल थे।  वे 2007 में डीएसपी मेरील लिंच से इसके बोर्ड सदस्य व प्रबंध निदेशक के पद से सेवानिवृत्त हुए। अपनी इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की स्नातक डिग्री हासिल करने बाद श्री चंद्रा भारत की अग्रणी इंजीनियरिंग व निर्माण फर्म लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) के साथ भी काम कर चुके हैं।

श्री चंद्रा को 2007 में विश्व आर्थिक फोरम द्वारा युवा वैश्विक लीडर नामित किया गया था और 2016 में फोर्ब्स द्वारा परोपकार का एशियाई हीरो घोषित किया गया था। वे वर्तमान मेंजेनपैक्ट, एलएंडटी फाइनांस, टाटा इन्वेस्टमेंट कारपोरेशन व एमक्योर फार्मास्युटिकल के बोर्डों के सदस्य हैं तथा हाल ही में पीरामल इंटरप्राइस के बोर्ड से सेवानिवृत्त हुए हैं।

वे टाटा ट्रस्ट के एक ट्रस्टी के रूप में भी भारत के नॉट फॉर प्रॉफिट स्पेस में सक्रिय हैं। वे अशोका विश्वविद्यालय के संस्थापक तथा ट्रस्टी/ बोर्ड सदस्य, आकांक्षा फाउंडेशन (वंचित बच्चों को शिक्षा उपलब्ध कराता है) ट्रस्टी/ बोर्ड सदस्य और स्वदेस फाउंडेशन व गिव इंडिया (भारत का अग्रणी परोपकारी विनिमय) के सलाहकार बोर्ड में हैं।

उन्होने अपना स्नातक डिग्री वीजेटीआई, बॉम्बे विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में हासिल की। उन्होने अपनी एमबीए की डिग्री बोस्टन कॉलेज से हासिल की और उनको 2007 में इस स्कूल का प्रतिष्ठित अल्युमनि प्रदान किया गया।