अप्रैल 2015 | गायत्री कामथ

'2016 का वित्तीय वर्ष हमारे लिए पुनर्गठन का वर्ष होगा'

'लीप 2020', टाटा केमिकल्स की पंच वर्षीय वृद्धि योजना का लक्ष्य, कंपनी के बाज़ार पूंजीकरण को तीन गुना करने और उसके तीन व्यापार स्तंभों का विस्तार करने का है। प्रबंध निदेशक आर मुकुंदन्

से साक्षात्कार के कुछ अंश विकास चरण के बाद, लगता है कि टाटा केमिकल्स अधिग्रहणों के पथ से अलग हो गई है। क्या इसका अर्थ ऐसा है कि ऑर्गेनिक विकास, आगे जाने का पसंदीदा मार्ग है ?
फिलहाल तो हमने ऑर्गेनिक विकास पर अपना ध्यान केन्द्रित किया हुआ है। निवेश करने की बात हमारी नज़र में है और जब कभी मौके हाथ लगेंगे, हम ऐसे निवेश करेंगे। मुख्य रूप से हम उपभोक्ता और कृषि व्यापार में निवेश करना चाहेंगे, लेकिन इनमें से कोई भी बहुत बड़े पैमाने पर नहीं होगा। पूर्व में हमारा व्यापार जितना पूंजी-उन्मुख रहा है, भविष्य में हमारा काफी सारा व्यापार उससे कहीं कम पूंजी-उन्मुख होगा। हम मानते हैं कि ऐसा करने से अमेरिका और केन्या में हमारे परिचालन का विस्तार होगा। लेकिन इन दोनों को छोड़ कर, भारत में हमारा व्यापार विकास तो करेगा लेकिन संपदा की द्ष्टि से हल्काफुल्का रहेगा, मुख्य रूप से यह प्रौद्योगिकी, बाज़ार या ब्रांड स्पेस में होगा।

टाटा केमिकल्स के लिए वित्तीय वर्ष 2015-16, अपने आंचल में क्या समेटे हुए है ?
2016 का वित्तीय वर्ष हमारे लिए पुनर्गठन का वर्ष होगा। हम सुनिश्चित करेंगे कि ब्रिटेन और केन्या में हमारे परिचालन फिर से सही पटरी पर आ जाएं और अमेरिका तथा भारत में जो हमारे परिचालन हैं वे स्वस्थ बने रहें।

उपभोक्ताओं के संदर्भ में अच्छा खासा निवेश करने का इरादा हम रखते हैं। हमने पंजाब में अभी हाल ही में टाटा आइ-शक्ति मसाले प्रस्तुत किए। इस वर्ष के दौरान, उत्तर भारत में इन्हें प्रस्तुत करने का इरादा रखते हैं और शायद एक और प्रांत में भी कर सकते हैं, जबकि अगले वर्ष पूरे देश
में प्रस्तुत कर देंगे। खाद्यान्न एवं पोषण संबंधी अन्य नये उत्पाद भी लाने वाले हैं।

हम आइ-शक्ति दालों (दाल ब्रांड) की पहुंच को लगभग 100,000 स्टोअरों तक बढ़ा देना चाहते हैं और अगले वर्ष तक यह लगभघ 150,000 स्टोअरों में मिलनी शुरू करवानी होगी। हमारा मानना है कि इस ब्रांड में हमने जो बड़ा निवेश किया है उसके परिणाम हमें अगले वित्तीय वर्ष से मिलने शुरू हो जाएंगे और व्यापार लाभजनक होना शुरू हो जाएगा।

कंपनी ने महत्वाकांक्षी योजना तैयार करी है, नाम है 'लीप 2020' (बढ़ चलें 2020 में) ये किसके बारे में है ?
लीप 2020, सूचित करता है कि अब से ले कर पांच वर्षों के बाद हम हमारा स्थान कहां देखना चाहते हैं। हम हमारे बाज़ार पूंजीकरण को तीन गुना करना चाहते हैं और हम अपने तीन व्यापार स्तंभों का विकास करना चाहते हैं। उपभोक्ता विषयक उत्पादों के व्यापार का लक्ष्य रू.12 बिलियन से बढ़ा कर रू.50 बिलियन का करना चाहते हैं। रोचक काम यह है कि हमारे खाद्यान्न और पोषण उत्पादों के द्वारा हम 1 बिलियन लोगों के जीवन को स्पर्श करना चाहते हैं। टाटा नमक 100 मिलियन घरों का सदस्य बन चुका है, यानी कि लगभग 500 मिलियन ग्राहकों का होना।

हम हमारा कृषि व्यापार और उसमें भी कम से कम बिना अनुदान वाला तथा उसका जो विनियंत्रित हिस्सा है वो रू.25 बिलियन से बढ़ा कर रू.80 बिलियन तक ले जाना चाहते हैं। हमारे रसायन व्यापार के लिए हमारा रवैया योग्य बने रहने का, लाभजनक बने रहने का और तेज़तर्रार रहने का होगा और कारोबार लगभग रू.120 बिलियन तक पहुंचाने का है।

सभी तीन व्यापारों में वृद्धि होगी लेकिन लाभ का मुख्य हिस्सा जो कि अभी रसायन से आ रहा है, वो बदल कर उपभोक्ता तथा कृषि व्यापार से आने लगेगा। आगे बढ़ते हुए, टाटा केमिकल्स ब्रांड व्यापार से हमें लाभ का 50 प्रतिशत प्राप्त हो रहा है। इसमें आगे और बढ़ते हुए कंपनी, एक ब्रांडेड खाद्यान्न एवं कृषि कंपनी के रूप में आकारित होगी। कंपनी का जो औद्योगिक रसायन का कारोबार है, वहां से कंपनी के ब्रांडेड व्यापार के
निर्माण हेतु आवश्यक नकद प्रवाहिता मिलती रहेगी ।

कंपनी के जो मूल्य हैं- सुरक्षा, जोश, अखंडितता, जतन और उत्कृष्टता, जिन्हें हम 'मसाले' कहते हैं और हमारे संस्थान की नींव भी ये मूल्य ही हैं- इन्हीं के आधार पर, इनसे प्रेरित होते हुए हमारी वृद्धि यात्रा आगे जारी रहेगी।

यह साक्षात्कार, टाटा रिव्यू के अप्रैल 2015 अंक का एक हिस्सा है जहां टाटा की 14 कंपनियों के मुख्य कार्यकारियों ने अपनी अपनी कंपनी के बारे में बात करते हुए बताया कि बीते वर्ष में उनकी कंपनी का प्रदर्शन कैसा रहा और भविष्य को ले कर उनकी क्या योजनाएं हैं:
टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज': टीसीएस में बात हमेशा टीम की ही होती है'
जगुआर लैन्ड रोवर 'अगले 12 महीनों में 12 महत्वपूर्ण उत्पाद एक्शन प्रस्तुत करेंगे'
टाटा इन्टरनैशनल: 'व्यापार करने वाली कंपनी के लिए स्केल आवश्यक है'
टाटा स्टीलः नवप्रवर्तन द्वारा चालित
टाटा स्टील युरोपः 'युरोप के राष्ट्र हमारी सफलता का आधार बने रहेंगे'
टाटा मोटर्स (वाणिज्यिक वाहनें) 'हम हमारे उपभोक्ताओं को वास्तविक मूल्य से रूबरू करवाएंगे'
टाटा मोटर्स (यात्री वाहनें): 'हमारी योजना प्रत्येक वर्ष में दो नये वाहन प्रस्तुत करने की है'
टाटा ग्लोबल बेव्हरेजेज: 'हमारी तंदुरूस्ती के लिए विश्व बाज़ार अहम है'
टाइटन कंपनीः 'लाइफस्टाइल स्पेस में अवसरों की तलाश करना जारी रखेंगे'
टाटा कम्युनिकेशंसः 'मानसिकता महत्वपूर्ण है'
रालिस इन्डियाः 'हमारे क्षेत्र की सर्वाधिक मूल्यवान कंपनियों में स्थान हासिल करना चाहते हैं'
टाटा टेक्नोलॉजेजः 'हमें अंतरिक्ष और रक्षा में अवसर नज़र आते हैं'
वोल्टासः 'हमें उम्मीद है कि ताक़तों को हम ज़रिआ बनाएंगे...'
टाटा प्रोजेक्ट्सः व्यापार के नये क्षेत्र, नये अवसर